डकैती के पहले हिरासत में आरोपी

bite---lakhan patle...cspबिलासपुर—पुलिस की स्पेशल टीम ने डकैती के पहले ही डकैत गिरोह को पर्दाफाश किया है। पुलिस ने आठों आरोपियों को गिरफ्तार कर हवालात के पीछे भेज दिया है। सभी युवक पश्चिम बंगाल के मिदनापुर के रहने वाले हैं। आरोपियों को ठेके पर डकैती डालने के लिए बुलाया गया था। पुलिस ने गैंग के पास से दहला देने वाले हथियार भी बरामद किये हैं।

                 पुलिस की स्पेशल ने तेलीपारा मेडिकल काम्प्लेक्स के पीछे से 8 हथियार बंद लोगो को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से पुलिस को चाकू,राड़,तलवार, मोबाइल, लाल मिर्च पाऊडर और कई घातक हथियार मिले हैं। पुलिस पूछताछ के अनुसार सभी आरोपी पंश्चिम बंगाल के मेदिनापुर जिले के गोपाल नगर के रहने वाले हैं। पकड़े गए आरोपियों के तार बंग्लादेश से भी हो सकते हैं।

                              एडिश्लनल एसपी प्रशांत कतलम ने बताया कि दो दिन पहले बिलासपुर में भारी बारिश के दौरान कई इलाकों में बिजली बंद थी। उसी दौरान स्पेशल टीम ने तेलीपारा मेडिकल काम्पलेक्स के पास आरोपियों को हिरासत में लिया। डकैत गिरोह के पास शहर के कई रईस इलाको के नक्शे मिले हैं। ये लोग इसके पहले घटना को अंजाम देते हिरासत में ले लिया गया।

पुलिस के अनुसार डकैतो के कुछ साथी तीन चार महीने बंगाल से आकर बिलासपुर में कारपेंटर का काम कर रहे थे। शनिचरी बाजार, बृहस्पति बाजार और अन्य क्षेत्रो में काम के बहाने मकानों की रेकी की । मेडिकल काम्प्लेक्स की भी रैकी की । प्लानिंग के बाद बंगाल के अन्य साथियों को बुलाया गया। गिरफ्तारी के समय सभी आरोपी डकैती की योजना बना रहे थे।

                             पुलिस के अनुसार पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि सभी मिदनापुर के रहने वाले हैं। आशंका है कि इनमें से कुछ के संबध बंगलादेश से भी हो सकते हैं। मालूम हो कि कुछ महीने पहले बाबजी पार्क के पीछे डकैती की योजना बनाते पुलिस ने बंगलादेशियो को गिरफ्तार किया था।  इनमें से कुछ के संबध बंगलादेश थे।

स्पेशल टीम के इंचार्ज लखन पटले ने बताया कि पकड़े गये डकैतो से पूछताछ की जा रही है। पकड़े गए आरोपियों के नाम अमीर खान उर्फ समिदुल खान, राजू अली उर्फ गुलाम मुस्तफा, शरीफुल खान, सुईदुल खान, हारून खान, गुलाम रसूल खान, अफजल खान, रफीक खान उर्फ रउफ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *