पुलिस माफी मांगे..अन्यथा करेंगे आंदोलन

IMG-20170505-WA0012बिलासपुर– जिला शहर कांग्रेस कमेटी प्रतिनिधिमण्डल ने आईजी पुरूषोत्तम गौतम से मिलकर 2 मई को कांग्रेसियों के साथ पुलिस कार्यवाही को गैर संवैधानिक बताया है। कांग्रेसियों ने आईजी से लिखित शिकायत कर जिम्मेदारी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कठोर कदम उठाने को कहा है।

                    कांग्रेसियों ने बताया कि मुख्यमंत्री के ठीक आगमन के समय पुलिस कप्तान समेत मातहत पुलिस अधिकारियों ने कांग्रेस नेताओं से असंसदीय भाषा का प्रयोग किया। कार्यालय में घुसकर मारपीट की। कांग्रेस नेताओं को जबरदस्ती गिरफ्तार कर कोनी थाना में बैठाया गया।

                                कांग्रेसियों ने आईजी पुरूषोत्तम गौतम को बताया कि 2 मई को मुख्यमंत्री का बिलासपुर प्रवास था। प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री का छत्तीसगढ़ भवन में आना था। भवन के सामने राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का कार्यालय भी है। कांग्रेसियों ने बताया कि पार्टी ने जिला प्रशासन से नेहरू चौक पर मुख्यमंत्री के कमीशन वाले बयान पर धरना प्रदर्शन की अनुमति भी ली थी। लेकिन सुरक्षा कारणों ने जिला प्रशासन ने अनुमति को निरस्त कर दिया।

                 अनुमति नहीं मिलने के कारण कांग्रेस कार्यालय के सामने कांग्रेसियों ने नारेबाजी की। कमीशन खोरी के बयान का विरोध किया। लेकिन कैम्पस के अन्दर रहकर ।  बावजूद इसके सीएसपी लखन पटले, डीएसपी मधुलिका सिंह और तोरवा थाना प्रभारी परिवरेश तिवारी के साथ भारी संख्या में पुलिस के जवान कांग्रेस कार्यालय में घुसकर छानबीन करने लगे। कांग्रेस कार्यालय के नियमित कर्मचारियों के साथ गाली गलौच की। शहर कांग्रेस अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर और अन्य पदाधिकारियों को जबरदस्ती गिरफ्तार किया।  IMG-20170505-WA0014

                          आईजी से कांग्रेसियों ने बताया कि गिरफ्तारी का विरोध करने पहुंचे वरिष्ठ कांग्रेस नेता भुवनेश्वर यादव और अभयनारायण राय समेत दर्जनों कांग्रेसियों के साथ पुलिस ने धक्कामुक्की और गाली गलौच की। महामंत्री के लिए पुलिस कप्तान ने अश्लील भाषा का प्रयोग किया। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि महिला कांग्रेस नेत्री सीमा पाण्डेय का महिला पुलिस ने हांथ मरोड़ा। गाली गलौच करते हुए उन्हें घसीटा भी गया।

              कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल ने बताया कि कांग्रेस पार्टी देश की सम्मानित और राष्ट्रीय पार्टी है। नेताओं और कार्यकर्ताओं को कार्यालय के अन्दर घुसकर मारपीट और गाली गलौच करना संसदीय आचरण के खिलाफ है। कांग्रेस नेताओं ने कुछ पुलिस अधिकारियों का नाम लेते हुए कहा कि उन्होने कांग्रेस नेताओं को हमेशा से टारगेट बनाया है।

               आईजी से कांग्रेसियों ने कहा कि दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। पुलिस प्रशासन कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर नेताओं से माफी भी मांगे। ऐसा नहीं किए जाने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। रेंज पुलिस महानिरीक्षक ने कांग्रेसियों को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया।  कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में नरेन्द्र बोलर, शिवा मिश्रा,शैलेन्द्र जायसवाल,चन्द्रप्रकाश वाजपेयी,रामशरण यादव,ऋषि पाण्डेय और करण गोरख शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *