1 जुलाई से बदल जाएगा चार्टर्ड अकाउंटेंसी का सिलेबस

26934नईदिल्ली।1 जुलाई 2017 से देश में जीएसटी लागू हो रहा है। जीएसटी लागू होने के बाद देश में लगने वाले टैक्सों में बदलाव होगा। इसी को देखते हुए चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए) के सिलेबस में भी बदलाव किया जा रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी 1 जुलाई को चार्टर्ड अकाउंटेंसी के बदले हुए सिलेबस की घोषणा करेंगे। इसकी पुष्टि इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) के पूर्व अध्यक्ष जी रामास्वामी ने की। द हिंदू से रामास्वामी ने कहा कि आने वाले कुछ महीनों में सीए करने वाले छात्रों की संख्या में इजाफा होगा। रामास्वामी के मुताबिक देश में 2 लाख सीए हैं। इनके अलावा अभी 1 लाख सीए की और मांग है। आईसीएआई परिषद के सदस्य सुप्रिया कुमार ने कहा कि सीए के सिलेबस की नियमित रूप से समीक्षा की जाएगी और सभी स्तरों पर बदलाव किए जाएंगे। सिलेबस अलग अलग भागों में बांटा जाएगा ताकि छात्रों को इसे समझने में दिक्कत न हो।

                            इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ एकाउंटेंट्स के अंतरराष्ट्रीय शिक्षा मानकों के अनुसार सिलेबस में बदलाव किए गए हैं। आईसीएआई सीए की प्रवेश परीक्षा 2 से 16 नवंबर 2017 तक पूरे भारत के 172 शहरों आयोजित करेगी। इसके अलावा विदेशों में चार शहरों में आयोजित की जाएगी। इनमें अबू धाबी, दुबई, काठमांडू और मस्कट शामिल हैं। गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) की दरों को वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा तय कर दिया गया है।

                         हेल्थकेयर और शिक्षा को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा जाएगा। वहीं बाकी सेवाओं के लिए 5, 12, 18 और 28 फीसदी की दर तय की गई हैं। ट्रांसपोर्ट की सेवा पर पांच प्रतिशत टैक्स तय किया गया है।

                             रेस्टोरेंट जिनका टर्नओवर पचास लाख रुपये या फिर उससे नीचे है। उनको भी पांच प्रतिशत टैक्स स्लेब में रखा गया है। वहीं नॉन एसी रेस्टोरेंट को 12 प्रतिशत के स्लैब में रखा गया है। जिस एसी रेस्टोरेंट ने दारू का लाइसेंस ले रखा होगा उसको 18 प्रतिशत के स्लैब में रखा गया है। फाइव स्टार होटल 28 प्रतिशत वाली स्लैब में आएंगे। जिन होटलों का किराया एक हजार रुपये तक है वह 12 प्रतिशत वाले स्लैब में आएंगे। वित्तीय सेवाओं पर 18 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगेगा जबकि सिनेमा हॉल, जुआ घरों और घुड़ दौड़ पर 28 प्रतिशत की दर से जीएसटी लगाया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *