पहले काम के बोझ से मारा…फिर विज्ञापन से अपमान..पदाधिकारी ने बताया..संगठन अमिताभ के खिलाफ जाएगा कोर्ट

बिलासपुर–ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन ने आभूषण कंपनी कल्याण ज्वेलर्स के ख़िलाफ़ मुक़दमा की चेतावनी दी है। यह जानकारी सगंठन के सहायक महासचिव ललित अग्रवाल ने दी है। एआईबीओसी के सहायक महासचिव ललित अग्रवाल ने बताया कि ज्वैलर्स के एक विज्ञापन में लाखों बैंक कर्मचारियों की गलत तस्वीर पेश की गयी है। बैंक कर्मचारी संघठन ना केवल निंदा करता है। बल्कि मामले को लेकर कोर्ट जाने का भी फैसला किया है।
                   ललित अग्रवाल ने जानकारी दी है कि आभूषण कंपनी के लिए अभिनेता अमिताभ बच्चन और उनकी बेटी श्वेता बच्चन नंदा के डेढ़ मिनट के विज्ञापन की बैंक यूनियन ने आलोचना की है। यूनियन ने बताया कि विज्ञापन घृणा पैदा करने वाला है। ऐसा लगता है कि विज्ञापन का मक़सद बैंक प्रणाली में अविश्वास पैदा करना है।
      आॅल इंडिया बैंक आॅफिसर्स कनफेडरेशन (एआईबीओसी) के अनुसार आभूषण कंपनी कल्याण ज्वेलर्स के खिलाफ विज्ञापन के ज़रिये लाखों कर्मचारियों की भावना को आहत किया है। एआईबीओसी के महासचिव सौम्य दत्ता ने आरोप लगाया कि विज्ञापन का जो विचार और लहज़ा दिखाया जा रहा है इसका अर्थ घृणा और अपमान करना है। इसका मकसद वाणिज्यिक लाभ के लिए बैंक प्रणाली में अविश्वास भी पैदा करना है।
          संगठन के सहायक महासचिव ललित अग्रवाल ने बताया कि ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन के केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर अमिताभ बच्चन और उनकी बेटी ने कल्याण ज्वेलर्स के विज्ञापन में बैंकर्स की छवि को गलत तरीके से पेश करने का विरोध किया हैं। ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन ने छतीसगढ में कल्याण ज्वेलर्स शाखा की ओपनिग का विरोध करने पुलिस प्रशासन से अनुमति मांगी थी। लेकिन सुरक्षात्मक कारणों से अनुमति नही मिली। शैलेन्द्र खजांची के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने कल्याण ज्वेलर्स के प्रबंधकों से मिलकर आईबोक की तरफ से लिखित में विरोध जाहिर किया है। विज्ञापन को तत्काल बंद करने को है।
                     ललित ने यह भी बताया कि यूनियन का मानना है कि विज्ञापन में जानबूझ कर बैंकर्स की छवि तरीके से पेश की गई हैं। जबकि बैंकर्स रातदिन मेहनत कर आम जनता की सेवा करते हैं। जनधन,नोटबन्दी, आधार सीडिंग, जीवन ज्योति, जीवन सुरक्षा आदि विभिन्न अवसरों पर लगातार, अपने घर परिवार को छोड़कर 24घण्टे जनता की सेवा करते हैं। ऐसे में अपने विज्ञापन के लिए कर्स को अनावश्यक बदनाम करना गहरा धक्का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *