व्याख्याता की वरिष्ठता सूची मे है भारी विसंगति:कार्यभार ग्रहण की तिथि से वरिष्ठता की गणना करने की मांग

प्रान्ताध्यक्ष कमलेश्वर सिंह राजपूत,अन्तरिम वरिष्ठता सूची,teachers,school,nes,raipur,chhattisgarh,व्यख्याता(एल बी),संचालक लोक शिक्षण छत्तीसगढ़,बिलासपुर।संचालक लोक शिक्षण छत्तीसगढ़ दुवरा व्यख्याता(एल बी)की अन्तरिम वरिष्ठता सूची जारी की गयी है। जिसमे मुख्य रूप से दो त्रुटि प्रमुख है पहला एक जिला से दूसरे जिला में स्थांतरण होने पर वरिष्ठता स्थानांतरित जिले में कार्यभार ग्रहण को माना गया है। जबकि व्यख्याता राज्य स्तर का कैडर का कर्मचारी है। जिसकी नियोक्ता संचालक लोक शिक्षण है। यदि जिले स्तर पर पदोन्नति की बात होती तो  अलग नियम होता परन्तु पदोन्नति राज्य स्तर पर होनी है।स्थानांतरित कर्मचारी को व्यख्याता पद पर कार्यभार ग्रहण तिथि से वरिष्ठता दी जानी चाहिए ।छ.ग.व्यख्याता(पं/एल बी)संघ  के प्रान्ताध्यक्ष कमलेश्वर सिंह राजपूत ने सीजीवालडॉटकॉम को बताया कि दूसरी गलती यह दिखाई दे रही है। कि नियुक्ति आदेश की तिथि को वरिष्ठता दिनांक अंकित किया गया है। जबकि कई ऐसे व्यख्याता(पं/ननि)है। जो आदेश जारी होने के 5 दिन 10 दिन 15 से 20 दिन बाद शाला में कार्यभार ग्रहण किये है। और व्यख्याता आदेश जारी होने के दूसरे दिन कार्यभार ग्रहण किये है।इससे उनकी वरिष्ठता प्रभावित हो रही है और 20 दिन बाद कार्यभार ग्रहण किये है वे उनसे वरिष्ठ हो रहे है ।
कमलेश्र्वर सिंह ने बताया कि जो भी व्यख्याता अपने पद पर जिस दिनांक को कार्यभार ग्रहण किये है उन्ही तिथि से पद की वरिष्ठता प्रदान की  जाये । इसी प्रकार शैक्षणिक योग्यता एवं व्यवसायिक योग्यता भी अंकित करने में त्रुटि हुई है । उन्होंने शासन से मांग की है कि  वरिष्ठता सूची में आवश्यक सुधार की जानी चाहिए। जिससे भविष्य में शिक्षक संवर्ग को कोई परेशानी न हो।

Comments

  1. By shridhar patel

    Reply

  2. By Sk

    Reply

  3. By Salikram Das

    Reply

  4. By दीपक

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *