सहायक शिक्षकों के साथ वही हुआ,जो नहीं होना था :बनाफर ने फेडरेशन पर उठाए सवाल

बिलासपुर।छत्तीसगढ़ सहायक फेडरेशन ने प्रदेश के शिक्षको को आखिर ठग लिया है।फ़ेडरेशन ने रायपुर के एक दिवसीय धरना रैली में पांच सितंबर से अनिश्चितकालीन कालीन हड़ताल में जाने वाली थी । ऐसा नही करके उहोंने शिक्षक दिवस को काला दिवस मनाया फिर 15 सितंबर से अनिश्चितकालीन आंदोलन करने वाले थे। पर फेडरेशन ने गांव चलो व जन प्रतिनिधियो से संपर्क व समर्थन का ऐलान किया। उसके बाद फ़ेडरेशन ने संभाग स्तरीय क्रमिक अनिश्चितकालीन आंदोलन की घोषणा की थी।अब ऐसा क्या हुआ कि मुख्यमंत्री से मिल कर संभाग स्तरीय आंदोलन रद्द कर दिया है।फेडरेशन ने सहायक शिक्षको के साथ धोखा किया है।

ऐसे आरोप लगाते हुए सहायक शिक्षक कल्याण संघ के प्रंताध्यक्ष भूपेंद्र सिंह बनाफर ने बताया कि शुरू से हमारा संघ शिक्षको के हित मे जो कार्य करता है उसके संगठन की सहमति से समर्थन देते है। हमने मोर्चा के आंदोलन के दौरान मोर्चे को पूर्ण समर्थन दिया था। शिक्षाकर्मीयो के संविलियन में सहायक शिक्षक कल्याण संघ की भी भूमिका रही है।

बनाफर ने बताया कि जब वर्ग तीन की बात आई थी तो हमने और हमारे संघ की विचारधारा से जुड़े साथीयो ने एक दिवसीय रैली में समर्थन किया और एक दिवसीय जिला स्तरीय धरना में भी वर्ग तीन के साथी सम्मिलित हुए थे। और आगे भी समर्थन जारी रहता।भूपेंद्र बनाफर ने बताया कि सहायक शिक्षक फेडरेशन बार बार आपनी रणनीति बदल रहा था इससे यह स्पस्ट होता है कि फेडरेशन के पास कोई रणनीति नही थी। फेडरेशन सिर्फ महत्त्वकांछी..नेताओ का समूह बन गया है। जिन्होंने वर्ग तीन के भोले भाले शिक्षको की भावनाओ के साथ खिलवाड़ किया है। फेडरेशन के लोग अन्य शिक्षको संघो को जो गुलदस्ता गैंग कहते थे। वह अब खुद गुलदस्ता गैंग बन के रह गए है।

फेडरेशन ने आंदोलन की तैयारी कर चुकेसहायक शिक्षको को मझधार में छोड़ा दिया है। इनके ऐसा करने से हमारे संघ का इनसे भरोसा इसने टूट गया है।बनाफर ने बताया कि अब हमारा सहायक शिक्षक कल्याण संघ जो पिछले चार साल से वर्ग तीन के शिक्षको की आवाज बुलंद करता रहा है। वह अब छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन का कभी समर्थन नही करेगा।

सहायक शिक्षक कल्याण संघ प्रंतीय सचिव जे पी त्रिपाठी ने बताया कि वर्ग तीन के साथियों को निराशा होने की जरूरत नही है जल्द ही संगठन की बैठक में आगे की रणनीति तैयार की जायेगी। वर्ग तीन के साथ अन्याय नहीं होगा। वर्ग तीन के साथ हमेशा सहायक शिक्षक कल्याण संघ खड़ा हुआ है।

Comments

  1. By Yogendra

    Reply

  2. By M d verma

    Reply

  3. By आनंद दास मानिकपुरी

    Reply

  4. By Vimal

    Reply

  5. By Rajkumar

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *