वालीवुड स्टार ने कहा…अभिनेता बनने किया सब काम…कोई काम बुरा नहीं..अमर ने किया शहरवासियों का सम्मान..बताया बिलासपुर बनेगा अंतर्राष्ट्रीय शहर

  बिलासपुर— अमर अग्रवाल के जन्मदिन पर शहर में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। वालीवुड स्टार वमन ईरानी ने सीएमडी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होकर युवाओं समेत आयु वर्ग के बीच मोटिवेशन स्पीच दिया। जिज्ञासा भरे सवालों का जवाब भी दिया। उन्होने कहा कि निकाय मंत्री के सहयोग से मुझे अपने खूबसूरत देश के खूबसूरत शहर बिलासपुर आने का मौका मिला। मैं उन्हें जन्मदिन की बधाई देता हूं। उन्होने शहर का विकास किया इसके लिए देश का जिम्मेदार नागरिक होने के कारण शुभकामनाएं भी देता हूं। वमन ईरानी ने इस दौरान देरी से आने के लिए खेद भी प्रकट किया।
                सीएमडी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर वमन ईरानी ने जीवन के प्रति हमेशा सकारात्मक सोच रखने की सलाह दी। उन्होने कहा कि हमेशा लक्ष्य निर्धारित कर काम करना जिन्दगी का फलसफा होना चाहिए। मैं भी आम इंसान हूंं। सीखने की लालसा ने मुझे वमन ईरानी बनाया। उन्होने बताया कि जीवन सीखने का दूसरा नाम है। हर इंसान को जीवन भर कुछ ना कुछ सीखते रहना चाहिए।हुनर जीवन में बहुत काम आता है।
        अपने जीवन के बारे में वमन ने कहा कि जन्म लेने से पहले पिता नही रहे। मैं बेचारेपन के साथ वाइरस की तरह बढा। बचपन में सोचता रहा कि अभिनेता बनना है। चकरी कुछ ऐसी चली की लक्ष्य को हासिल कर लिया। उन्होने कहा कि लोग किसी के प्रगति से जलते हैं..या फिर हतोत्साहित करते हैं। हमें उनके प्रभाव में आने की जरूरत नहीं है।
                 सफल जीवन का सबसे बड़ी बाधा झिझक है। इसे कभी भी फटकने ना दें। उन्होने कहा डिस्लेक्सिया से पीडित था। इसका मतलब मैं बुद्धू कहलाता था। बेचारेपन से निकलने मे फिल्म ने मदद की। वमन ने बताया कि मैने हमेशा काम को पूजा माना। मैने वेटर का भी काम किया।  मेरा मानना है कि कोई काम कोई बुरा नही होता। लेकिन बनना क्या है इसका हमेशा बोध रहना चाहिेए। मतलब लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिए। लक्ष्य और जीवन के बीच मिलने वाली उपलब्धियों को प्लेटफार्म समझकर आगे चलना होगा। फिर लक्ष्य जरूर हासिल होगा। लेकिन हमें लक्ष्य को क्लीयर रखना होगा। इस बात को ध्यान में रखकर चलना होगा कि लक्ष्य आपके रूचि के अनुरूप हो।
                       वमन ने बताया कि मै हमेशा चलता रहा। कभी भी आराम किया। हमेशा बेस्ट देने की कोशिश की। कभी वेटर बना। कभी कैमरामैन। अब अभिनेता हूं। यहां भी बेहतर करने की कोशिश कर रहा हूं। वमन ने कहा मैन पहली कमाई 5 रूपए की थी। अपनी पहली कमाई पाकर आनन्दित महसूस किया। वमन ने यह भी बताया कि उन्होने किराना दुकान में भी काम किया है।
             ईरानी ने कहा कि जीवन पाने और खोने का नाम है। मैने भी कुछ पाकर खोया है। लेकिन बिना मेहनत,धैर्य और  लगन के कुछ हासिल नहीं होता। सफलता के लिए तिरस्कार और उपेक्षा से डरने की जरूरत नहीं है। हीनभावना से हमेशा बचकर रहना है। क्योंकि अभावो की आंच मे तपकर ही जिन्दगी का सूर्योदय होता है। ध्यान रहे कि ईमानदार प्रयास कभी भी खाली नही जाता।
                              पैसा सब कुछ नहीं होता।श्यामक डाबर ने मुझे फोटोग्राफर बनाया। फिर थियेटर की तरफ प्रेरित हुआ। 200 रु की बहुत बड़ी कमाई हुई। बचपन के बेचारे बोम्मंन का कागज मे लिखा लक्ष्य रंग लाया। काम को करना है तो करने का ढंग भी सही होना चाहिए। लोगो के प्यार को ज्यादा से ज्यादा हासिल करना चाहिए।
वमन का आत्मीय स्वागत

      बिलासपुर पहुंचने पर निकाय मंत्री अमर अग्रवाल और उनके पुत्र आदित्य अग्रवाल समेत महापौर किशोर राय ने ईरानी का आत्मीय स्वागत किया। वमन ने कहा बिलासपुर आकर गर्व महसूस कर रहा हूं। इसके लिए मंत्री को साधुवाद जिन्होंने मुझे बिलासपुर आने का अवसर दिया।
युवाओ और बुजुर्गो का सम्मेलन में सम्मान
             अमर अग्रवाल ने श्रीकांत वर्मा मार्ग स्थित वेडिंग परिसर में सर्व धर्म समाज के प्रतिभावान बच्चों और अभिभावकों के साथ बुजुर्गां को शाल श्रीफल और प्रशस्ति पत्र के साथ सम्मानित किया। मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा संस्कारधानी के रूप में पहचान हमारे बीच मौजूद युवाओं,अभिभावकों और बुजुर्गों से है। बिलासपुर का चयन  स्मार्ट सिटी के रूप में हुआ। प्रधानमंत्री मोदी ने संकल्प लिया है कि देश के बढ़ते शहरों को स्मार्ट सिटी बनाना है। 4000 से ज्यादा शहरों में बिलासपुर का चयन स्मार्ट सिटी के लिए किया गया। प्रतिज्ञा लेता हूं आपके अपने शहर को अंतरराष्ट्रीय स्तर के मुकाम तक पहुंचाकर दम लूंगा। अमर ने कहा मोटिवेशनल प्रोग्राम में बिलासपुर के युवाओं को सकारात्मक सोच से कार्य करने के लिए फिल्म अभिनेता सिर्फ बोमन ईरानी प्रेरित किया। छत्तीसगढ़ को आगे बढ़ाने में हमारे बिलासपुर के युवाओं का अधिकाधिक योगदान हो यही मेरी इच्छा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *