मेरा बिलासपुर

अकालग्रस्त इलाकों में मिलेंगे माँग के अनुसार काम

akal

बिलासपुर ।  संभागीय कमिश्नर सोनमणि बोरा ने बुधवार को  वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिये बिलासपुर संभाग के सभी जिलों में कानून व्यवस्था की स्थिति एवं सूखे से निपटने के लिए बनाये गये कार्ययोजना की समीक्षा की। संभागायुक्त के साथ खासतौर से पुलिस महानिरीक्षक  पवन देव मौजूद थे।
संभागायुक्त श्री बोरा ने संभाग के सभी जिलों में कानून व्यवस्था की जानकारी लेते हुए कहा कि विस्फोटक सामग्री के लिए तत्काल टीम गठित कर समयबद्ध कार्यक्रम के अनुसार जांच कराएं। उन्होंने कहा कि ऐसे सामग्रियों के लायसेंस में दी गई शर्तों के आधार पर कार्यवाही करें। श्री बोरा ने सुरक्षा के मद्देनजर पेट्रोल पंप, दुकान, माॅल, गैस सैलेण्डर गोदाम, सिनेमा हाॅल, पटाखा लायसेंस एवं होटल-ढाबा की सघन जांच कर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने घनी आबादी के आसपास के बिजली ट्रांसफार्मर के रख-रखाव एवं मरम्मत पर भी विशेष ध्यान देने के लिए कहा है। ताकि किसी तरह की अनहोनी घटना न हो। संभागायुक्त ने क्षेत्र के थानावार टीम गठित कर जांच कराने के लिए निर्देश दिए है। उन्होंने यह भी कहा कि कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त कलेक्टर एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व्यापारी संघों से भी सुरक्षा के मद्देनजर चर्चा कर लेवें।
संभागायुक्त श्री बोरा ने सूूखे की स्थिति पर चर्चा करते हुए कहा कि जिले में जो कार्य योजना बनायें हैं, तत्काल लोगों के मांग के अनुरूप कार्य प्रारंभ करें। उन्होंने कहा कि इसकी काॅपी कमिश्नर कार्यालय एवं पुलिस अधीक्षक को भी दें। ताकि कानून व्यवस्था की स्थिति पर नजर रखी जा सके। उन्होंने सूखा प्रभावित तहसीलों के लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर सतत् निगरानी रखने निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस संबंध में प्रतिदिन सुबह 9 बजे तक जानकारी देने के लिए कहा है।
पुलिस महानिरीक्षक  पवन देव ने जिला एवं पुलिस प्रशासन आपसी समन्वय से बेहतर कार्य करने के लिए विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि खनिज एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जो ब्लास्टिंग किया जाता है, उसकी सूचना जिला एवं पुलिस प्रशासन को दें। उन्होंने कहा कि यदि नियम विरूद्ध कार्य करते हैं तो सख्ती से कार्यवाही करें। इसके साथ ही उन्होंने विस्फोटक रखने वाले विभिन्न संस्थाओं का भौतिक सत्यापन करने के लिए भी कहा है। ताकि सुरक्षा के आवश्यक उपाय किये जा सके।

बिलासपुर कलेक्टर  अन्बलगन पी., जांजगीर-चांपा कलेक्टर  ओ.पी. चैधरी, मुंगेली कलेक्टर डाॅ. संजय अलंग, रायगढ़ कलेक्टर श्रीमती अलरमेल मंगई डी एवं कोरबा कलेक्टर पी.दयानंद ने अपने-अपने जिले की कानून व्यवस्था तथा सूखे की स्थिति से निपटने के लिए बनी कार्ययोजना की जानकारी दी। वीडियो कान्फ्रेसिंग में संभाग के सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त कलेक्टर एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मौजूद थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS