अक्टूबर में होगी बाघ संरक्षण पर सुनवाई

high court cgबिलासपुर—प्रदेश में बाघों के संरक्षण को लेकर जनहित याचिका पर सुनवाई अब अक्टूबर माह तक के लिए बढ़ा दी गयी है। वन्य प्राणी विशेषज्ञ नितिन सिंघवी ने जनहित याचिका दायर कर प्रदेश में बाघों के संरक्षण और संवर्धन को लेकर चिंता जाहिर की है।

                      याचिकाकर्ता नितिन सिंघवी ने अचानकमार टाइगर रिजर्व क्षेत्र में जंगली हाथी पर क्रूरता को लेकर एक जनहित याचिका दायर की थी। पिछले दिनों वन विभाग ने हाईकोर्ट को आश्वस्त किया था कि जंगली हाथी को जंगल में छोड़ने के लिए लिखित स्वीकृति  दी गयी है। अचानकमार टाइगर रिजर्व क्षेत्र में जंगली हाथी सोनू को जंजीर में बांध कर रखा गया था।

                  सोनू के पैर में गहरे जख्म और संक्रमण हो गए थे। जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने मामले को संवेदनशीलता के साथ लिया। वन विभाग को जरूरी निर्देश देते हुए सोनू हाथी के उपचार के लिए आदेश भी दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *