अग्निकाण्ड की उच्च स्तरीय जांच..अपर मुख्य सचिव ने कहा….क्यों नहीं दिया चाभी

AJAY SINGबिलासपुर— प्रदेश के पांच जिलों में पूर्ण जैविक खेती उत्पादन का लक्ष्य सरकार ने रखा है। इसके अलावा अन्य जिलों में जैविक खेती का बढ़ावा दिया जा रहा है। बिलासपुर जिले में हार्टीकल्चर का काम ठीक ठाक चल रहा है। फलोत्पान से लेकर सब्जी उत्पादन में काम किया जा रहा है। पशु अधिकारी बी.पी.सोनी ने स्थानांतरण के बाद चाभी और दस्तावेज अपने अधिकारी को क्यों नहीं दिया इसकी जांच पड़ताल की जाएगी। पशु विभाग में अग्निकाण्ड मामले में जांच चल रही है। यह जानकारी अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त अजय सिंह ने पत्रकारों को दी।

                          अपर मुख्य सचिव अजय सिंह ने रबीु और खरीफ फसल की संभागीय समीक्षा बैठक मंथन सभागार में ली। उन्होने कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मछली पालन और संबंधित विभागोें के अधिकारियों के साथ कामकाज की समीक्षा की। सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा किहर साल की तरह इस साल भी संभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ चर्चा हुई।

                                              एक सवाल के जवाब में पशुपालन आयुक्त ने कहा कि पशुविभाग में आग लगने का कारणों का पता लगाया जा रहा है। जिला स्तर पर जांच कमेटी की रिपोर्ट मिल गयी है। कुछ ऐसे भी पहलु हैं जिनकी जांच जरूरी है। इसलिए उच्च स्तर पर सचिव की अगुवाई में जांच हो रही है। कुछ तथ्य सामने आये हैं। सभी पहलुओं की जांच हो जाएगी इसके बाद रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाएगा। जानबूझकर गड़बड़ी पैदा करने वालों के कार्रवाई होगी।

              सवाल का जवाब देते हुए अजय सिंह ने कहा कि डॉ.बी.पी.सोनी का स्थानांतरण हो गया है। उन्होने चार्ज क्यों नहीं दिया पता लगाया जाएगा। जरूरी दस्तावेजों और चाभी को जिम्मेदार अधिकारी को क्यों नही दिया पूछाताछ की जाएगी। कुछ गड़बड़ी हुई तो सोनी के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी।जिला प्रशासन कारणों का पता लगाया जाए।  IMG20170429151501

                                  जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है लेकिन रासायनिक खाद की खपत में कमी नहीं आयी है के सवाल पर अजय सिंह ने कहा कि इस बात की मेरे पास पुख्ता जानकारी नहीं है। जहां तक रिपोर्ट मिल रही है कि जैविक खाद के उपयोग के बाद रासायनिक खाद की खपत में कमी आई है। अजय सिंह ने इस बात से इंकार किया कि रासायनिक या जैविक खाद उत्पादन में भ्रष्टाचार हुआ है। किसान धीरे धीरे रासायनिक खाद का प्रयोग कम कर रहे हैं।

           हार्टीकल्चर का काम बिलासपुर में क्यों नहीं दिखाई देता है। सवाल का जवाब देते हुए अपर मुख्य सचिव ने बताया कि बिलासपुर में फल विस्तार पर काम ठीक ठाक हो रहा है। सीताफल,अमरूद समेत अन्य फलों को किसानों के बीच बढ़ावा दिया जा रहा है। फूल, सब्जी, मासाला समेत अन्य जायद फसलों पर प्रयोग किया जा रहा है। किसानों को मसाला सामाग्रियों के पैदावर लेने उत्साहित किया जा रहा है। उद्यानिकी में फसल तैयार कर लोगों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है।

              अजय सिंह ने बताया कि रतनपुर में फर्जी समिति बनाकर मत्स्यपालन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। जिला प्रशासन से अभी तक इसकी जानकारी मुझे नहीं मिली है। फर्जी समिति बनाने वाले लोगों या अधिकारियों को नहीं छो़ड़ा जाएगा

                   उद्यानिकी संचालक सुविधाओं और कार्यक्रम को लेकर सरकार को कोसते हैं के सवाल पर अजय सिंह ने बताया कि संचालक ऐसा क्यों कहते हैं जानकारी मांगेंगे। उद्यानिकी विभाग का किसानों और आम जनजीवन से सीधा संबध हैं। योजनाओं और अन्य गतिविधियों की जानकारी उन्हें देना ही होगा। ऐसा नहीं किए जाने या यदि गड़बड़ी मिलने पर जवाबदारी अधिकारी की होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *