अध्यादेश के बहाने पूंजीपतियों को सौगात–भूपेश

IMG_20151019_142626बिलासपुर— पूर्व कांग्रेस नेता और सांसद परसराम भारद्वाज के निधन पर शोक जाहिर करते हुए पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि  हमने बहुत बड़ा नेता खो दिया है। उन्होंने हमेशा सर्वहारा वर्ग के लिए काम किया। भूपेश बघेल ने कहा कि उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए बघेल ने कहा कि रमन सरकार आउटसोर्सिंग के बहाने आगामी चुनाव के लिए पोलिंग एजेंट की नियुक्ति कर रही है। भर्तियों में जमकर मुनाफाखोरी और ठेकेदारी हो रही है।

                          पत्रकारों से चर्चा करते हुए भूपेश बघेल ने कहा कि राजस्थान मुख्यमंत्री के गृहक्षेत्र और आंध्रप्रदेश से आधे सैकड़ा से ज्यादा लोगों की नियुक्ति बस्तर क्षेत्र में हुई है। नियुक्ति संवैधानिक नियमों के खिलाफ है। बस्तर छठवी अनुसूची के तहत आता है। वहां 55 लोगों की नियुक्ति धौलपुर राजस्थान से की गयी है। भूपेश बघेल ने बताया कि आउटसोर्सिंग के माध्यम से रमन सरकार पोलिंग एजेंट की नियुक्ति कर रही है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों पर खर्च का केवल 60 प्रतिशत हिस्सा ही किया जाएगा। बाकि हिस्सा आगामी चुनाव में खर्च होगा।

             पीसीस पीसीसी अध्यक्ष ने बताया कि चकित्सा क्षेत्र में हमारे प्रदेश की बेरोजगार प्रशिक्षित नर्सों पर बाहर की नर्सों को प्राथमिकता दी जा रही है। कांग्रेस पार्टी ने हमेशा इसका विरोध किया है। आगे भी विरोध जारी रखेंगे।

                 एक सवाल के जवाब में भूपेश बघेल ने बताया कि महंगाई दिनों दिन बढ़ती जा रही है। प्याज और दाल के दाम आसमान छू रहे हैं। मोदी ने कर दिखाया कि ना खाएंगे और ना ही खान देंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी महंगाई के खिलाफ जल्द ही बिगुल फूंकने वाली है। जनसामान्य को साथ लेकर उग्र आंदोलन किया जाएगा। बघेल ने कहा कि प्रदेश सूखे की चपेट में है…अभी तक शासन ने राहत का पिटारा नहीं खुला है। प्रदेश सरकार ने संवेदनहीनता की सारी हदें पार कर दी है। यदि राहत का पिटारा खुल गया होता तो शायद सन्नापाट में किसान की मौत नहीं होती।

                   पीसीसी अध्यक्ष ने बताया कि कोल आवंटन मामले में स्टांप डूयूटी के नाम पर करोड़ों का घोटाला सामने आ रहा है। स्टांप ड्यूटी पर राहत किन कारणों से दिया जा रहा है…सरकार स्पष्ट नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार अध्यादेश लाने के जुगाड़ में है। हम इस जुगाड़ को सफल नहीं होने देगे। भूपेश ने कहा कि अध्यादेश लाने की मनोदशा से स्पष्ट हो रहा है कि प्रदेश सरकार ने अनाप-शनाप खर्च कर सरकारी कोष को खाली कर दिया है। अध्यादेश कोल आवंटन धांधली पर पर्दा डालने और बड़े उद्योगपतियों को बचाने के लिए लाया जा रहा है।

       एक सवाल के जवाब में बघेल ने कहा कि जिला कांग्रेस कमेटी की न्याय यात्रा ने रंग दिखाना शुरू कर दिया है। सरकार घबरा गयी है। जिसके चलते सरकार को आनन-फानन में किसानों के धान को 15 नवम्बर से खरीदने का एलान किया है। एक अन्य सवाल के जवाब में भूपेश ने बताया कि मैने कहीं भी ऐसा नहीं कहा कि मंत्री के पास महिलाओं को जाने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि मीडिया ने बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *