अपराध पर अंकुश लगाना हमारी प्राथमिकता-मयंक

Editor
4 Min Read

IMG-20160604-WA0032बिलासपुर—-बिलासपुर के नए पुलिस कप्तान कमान संभालने के बाद आज पत्रकारों से रूबरू हुए। पत्रकारों से नए पुलिस कप्तान ने बताया कि अपराध पर नियंंत्रण उनकी पहली होगी। कोयले की धांधली करने वालों पर पुलिस की नजर हमेशा की तरह रहेगी। मयंक श्रीवास्तव ने बताया कि बिलासपुर की पुलिसिंग बेहतर है। जिन मामलों का अभी तक निराकरण नहीं हुआ है उस पर हमारा फोकस रहेगा। अपराधियों को सलाखो के पीछे भेजा जाएगा।

Join Our WhatsApp Group Join Now

                         एसपी अभिषेक पाठक के रायपुर स्थानांतरण के बाद नए पुलिस कप्तान ने आज सुबह पदभार संभाला। दोपहर दो बजे बिलासागुड़ी में पत्रकारों से रूबरू होते हुए एसपी मंयक श्रीवास्तव ने बताया कि अभी तक उन्होंने नरायणपुर, बस्तर जगदलपुर दुर्ग विभिन्न जिम्मेदारियों को संभाला है।राजभवन मेंं एडीसी की जिम्मेदारी को भी निभाया है। मयंक श्रीवास्तव ने बताया कि नक्सली क्षेत्र में भी सेवा करने का अवसर मिला।

                      पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए पुलिस कप्तान श्रीवास्तव ने बताया कि न्यायधानी में आना मेरे लिए सुखद और गर्व की बात है। पुलिस के जो कार्य महत्वपूर्ण होते है वही मेरी पहली प्राथमिकता होगी। अपराध पर लगाम कसना, जांच करना और अपराधी को सलाखो के पीछे पहुचाना उनकी जिम्मेदारियों में शामिल है।

                सम्पत्ती संबंधी अपराधो की रोकथाम के सवाल पर मयंक ने बताया कि अपराध में पहली प्राथमिकता रिकवरी होती है। पुलिस टीम रिकवरी पर ज्यादा ध्यान देगी। फास्ट एक्शन एंड फास्ट रिकवरी उनकी प्राथमिकता में शामिल है। क्राईम ब्रांच के सवाल पर श्रीवास्तव ने कहा कि  क्राईम ब्रांच के फायदे हैं तो कुछ नकसान भी हैं। सब कुछ अपराध और उसके निराकरण पर निर्भर करता है। अवश्यकता पड़ने पर क्राइम ब्रांच का गठन किया जा सकता है।

                       स्पेशल टीम के सवाल पर मंयक ने बताया कि अभी तो आया हूं थोड़े दिनो की निगरानी के बाद ही कुछ कह पाऊंगा कि एसआईटी की जरूरत है या नहीं। बाल अपराध पर पुलिस कप्तान ने बताया कि इस दिशा में कई सामाज सेवी संस्थाएं काम कर रही है। सरकार भी इसे लेकर गंभीर है। पुलिस के पास ऐसे बहुत से मामले है। जितना संभव होगा काम किया जाएगा।

                    थानो और बल की के सवाल पर एसपी ने बताया कि कमी बहुत बड़ी चुनौती है। यह चनौती बिलासपुर ही नही बल्कि अन्य जिलो में भी है। लेकिन स्थिति पहले से बेहत्तर है। छत्तीसगढ़ निर्माण के समय राज्य में बल की संख्या बहुत कम थी। आज बेतहर स्थित में है। अवश्यकता पड़ने पर भर्ती बल की मांग की जाएगी। राज्य सरकार भी बल को लेकर गंभीर है। मयंक श्रीवास्तव ने बताया कि अावश्यकता पड़ने पर नये थाने की मांग भी की जाएगी।

                              कोयले के अवैध भंडारण और संग्रहण पर नए एसपी ने बताया कि जो अवैध है उस पर कार्रवाई होती है और होगी। लूट और चोरी की वारदातो में हो रही बढोत्तरी पर बिलासपुर पुलिस कप्तान बताया कि चोरी और लूट की वारदात आबादी के अनुसार बढ़ती है। पुलिस ने अपराध के तुरंत बाद ही आरोपियो को पकड़ लिया था। यह कोई नही बात नही है।अपराध को रोकना ही हमारा काम है और अगर अपराध हो गया है तो जांच कर आरोपी को गिरफ्तार किया जाएगा।

close