अब अजीत जोगी पर कंवर समाज का फैसला…फर्जी आदिवासी बनकर दिया कानून को धोखा..अब कोई रिश्ता नहीं..

   बिलासपुर— मरवाही के बेलपत गांव में कंवर समाज के सम्मानित लोगोंत  के साथ बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद जोगी को फर्जी आदिवासी बताकर समाज से निष्कासित किया है। समाज के बैठक की अध्यक्षता जोगीसार गांव के कंंवर समाज अध्यक्ष धीरपाल  सिंह कंवर ने की। इस दौरान कंवर समाज के सातगढी के अध्यक्ष धनसिंह कंवर विशेष रूप से मौजूद थे।

                                बेलपत गांव स्थित मंदिर प्रांगण में कंवर समाज पेन्ड्रा जमीदारी की बैठक हुई। बैठक में पेन्ड्रा जमीदारी क्षेत्र में आने वाले गांव के कंवर समाज के सम्मानित लोगों ने हिस्सा लिया। बैठक की अध्यक्षता जोगीसार कंवर समाज के अध्यक्ष धीरपाल सिंह ने की है।

                            बैठक में फैैसला लिया गया कि अजीत प्रमोद कुमार जोगी के जाति निर्णय हाईपॉवर कमेटी छत्तीसगढ़ शासन रायपुर और उच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार सामने आ गया है। न्यायालय और हाईपॉवर कमेटी ने जोगी को कंवर जाति का मानने से इंकार कर दिया है। कंवर समाज के सम्मानित लोगों ने कहा कि कुछ चुनिंदा लोग लालच में आकर कंवर समाज को बदनाम  कर रहे हैं। समाज की गरिमा को ताक पर रख दिए है। ऐसे लोगों की पहचान कर निर्णय लिया जाए। उन्ही लोगों ने जोगी को कंवर समाज का बताया है।

                बैठक की अध्यक्षता कर रहे धीरपाल सिंह ने बताया कि चूंकि अब फैसला भी आ चुका है। इसलिए पेन्ड्रा जमीदारी के ईकाई  जोगीसार क्षेत्र के अन्तर्गत बेलपत, डुगरा, उमरखोही, करगी, छटौली और जोगीसार का कंवर समाज अजीत प्रमोद कुमार जोगी को सामुहिक फैसला लेते हुए समाज से वहिष्कृत करता है। धीरपाल सिंह ने बताया कि अजीत प्रमोद जोगी के साथ आज के बाद कंवर समाज का जो भी व्यक्ति रिश्ता रखेगा….उसे भी समाज से निष्कासित किया जाएगा।

      सातगढ़ी कंवर समाज के अध्यक्ष धनसिंह कंवर ने बताया कि बैठक में समाज के वरिष्ठ जनों ने जोगी को समाज से निष्कासन का फैसला सामुहिक लिया है। समाज के लोगों ने बताया कि जोगी फर्जी आदिवासी हैं। अब कानून ने भी फैसला कर दिया है। उन्होने समाज को धोखा दिया है। जोगी के निष्कासन के बाद यदि कंवर समाज का व्यक्ति अजीत जोगी से भाईचारे का रिश्ता रखता है तो उसके खिलाफ बहिष्कार की कार्रवाई होगी।

                   धन सिंह ने कहा कि यदि समाज का कोई व्यक्ति जोगी को अपना भाई या परिवार का सदस्य मानकर बुलाता है या कंवर समाज के सामाजिक कार्यों में शामिल करता है जैसे नवाखाई, नर नहावन या शादी विवाद में बुलाता है उसे कंवर समाज से बहिष्कृत किया जाएगा। साथ ही समाज जो भी दंड देगा…वह दंड समाज के समिति में जमा कराया जाएगा। सर्वसम्मति से लिया गया फैसला समाज को मानना ही होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *