अमित पर बदलापुर की कार्रवाई…अजीत जोगी ने कहा..भूपेश को मिलना चाहिए नोबेल पुरस्कार…लेकिन मोदी के सामने नहीं गलेगी दाल

बिलालसपुर— अमित जोगी पर सरकार के इशारे पर बदले की कार्रवाई से पुलिस ने काम किया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूुपेश बघेल के लिए मैं व्यक्तिगत तौर पर नोबेल का अनुशंसा करूंगा। उम्मीद है कि राज्य की जनता भी ऐसा करेगी। यदि उन्होने धान के पैरा से तेल निकाला तो देश में समृद्धि होगी। प्रदेश की बेरोजगारी  खत्म हो जाएगी। यह बातें जनता कांग्रेस के सुप्रीम अजीत जोगी ने पत्रवार्ता के दौरान कही। जोगी ने बताया कि किसानों को 2500 के हिसाब से धान का समर्थन मूल्य मिलना चाहिए। भूपेश के संघर्ष में पार्टी साथ है। लेकिन जानना जरूरी है कि भूपेश चुनाव को देखते हुए किसानों के कंधे का इस्तेमाल कर राजनीति कर रहे हैं। यह जानते हुए भी कि केन्द्र से 2500 रूपए के हिसाब से धान का समर्थन मूल्य मिलना नामुमकिन है। एक बार ऐसा हमने भी किया है।

                      अजीत जोगी ने गुरूवार को प्रेसवार्ता कर बताया कि यह जानकर अच्छा लगा कि भूपेश बघेल के पास ऐसा अविष्कार हाथ लगा है कि धान के पैरा से पेट्रोल और डीजल की पूर्ति होगी। उन्होने अभी तक अविष्कार को जाहिर नहीं किया है। मुझे अब राज्य में जगह जगह पेट्रोल डीजल निकानने वाली फैक्ट्रियों की स्थापित होने का इंतजार है। ऐसा पहली बार होगा कि धान के पैरा से डीजल और पेट्रोल बनाया जाएगा। यदि ऐसा हुआ तो मैं नोबेल कमेटी को पत्र लिखकर भूपेश बघेल के लिए नोबेल पुरस्कार की मांग करता हूं। उम्मीद करता हूं कि पैरा से पेट्रोल बनाने की घोषणा के बाद प्रदेश के लोग भी नोबेल कमेटी को भूपेश बघेल के लिए नोबेल पुरस्कार की मांग करेंगे। 

                  जोगी ने बताया कि चुनाव के समय कांग्रेस के तात्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों को 2500 रूपए धान का समर्थन मूल्य देने का वादा किया था। लेकिन यह भी सच है कि वादा मोदी से पूछकर नहीं किया गया था। अब केन्द्र ने 25000 समर्तन मूल्य देने से इंकार कर दिया है। हम दिल्ली कूच को लेकर कांग्रेस का समर्थन करते हैं। क्योंकि हम चाहते है कि किसानों को धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपया मिलना चाहिए। सवाल जवाब के दौरान जोगी ने बताया कि भूपेश भी जानते हैं कि मोदी झुकने वाला नेता नहीं है। मोदी के सामने उनकी दाल नहीं गलने वाली है। बावजूद इसके उन्होने दबाव बनाने के लिए संघर्ष यात्रा कर दिल्ली कूच करने को कहा है। 

                जोगी ने बताया कि मैने भी एक बार ऐसा किया था। लेकिन सरकार ने धान खरीदने से इंकार कर दिया। मजबूर होकर हमने आरबीआई से कर्ज लेकर देश में पहली बार धान खरीदने का रिकार्ड बनाया।

             जोगी ने कहा कि सरकार किसान और धान की राजनीति कर रही है। चुनाव सिर पर है। चुनाव को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस सरकार ने रणनीति तैयार की है। पहले 1 नवम्बर से धान की खरीदी होती थी। रमन सिंह ने 15 नवम्बर कर दिया। अब भूपेश ने 15 दिसम्बर कर दिया। समझने वाली बात है कि इसी समय चुनाव है। 

                 जोगी ने बताया कि रबि फसल लेने वाले किसान जल्दी तैयार होने वाले धान को बेचना शुरू कर दिया है। व्यापारी किसानों से 1300 से 1500 में धान खरीद रहे हैं। यदि किसान धान नहीं बेचेंगे तो रवी फसल के लिए खाद बीज और अन्य जरूरतों को कैसे पूरा करेंगे। जोगी ने कहा कि 15 दिसम्बर से धान खरीदा का सीधा मतलब सरकार किसानों से धान खरीदने में कंजूसी कर रही है। किसान तब तक बहुत धान मण्डी में बेच चुके होंगेै। इससे सरकार को धान भी कम खरीदना पड़ेगा। दिल्ली कूच के बहाने अपनी गलतियों को केन्द्र सरकार पर थोपेंगे। जाहिर सी बात है कि जनता का वोट निकाय चुनाव में कांग्रेस को हासिल होगा।

           जोगी ने बताया कि गौठान योजना को पूरी तैयारी के साथ नहीं शुरू किया गया है। ऐसा लगता है कि कांग्रेस सरकार गायों की हत्या कर रही है। मस्तूरी में सैकड़ों गायों की मौत चारा नहीं मिलने से हुई है। अभनपुर में 20 गायों की मौत भूख से हुई है। रायपपुर से बिलासपुर आते समय आज भी गाय सड़कों पर बैठी मिल जाएगी। रोजाना सड़क हादसे में रायपुर बिलासपुर के बीच दस गायों की टक्कर से मौत हो रही है। शास्त्र के अनुसार गायों की मौत पाप है। मुझे कहने में संकोच नहीं की भूपेश सरकार गौठान योजना के बहाने गायों की हत्या कर रही है। इसका पाप उन्हें जरूर लगेगा। 

              सवाल के जवाब में जोगी ने कहा कि कांग्रेस ने जोगी कांग्रेस की घोषणा को तो चुरा लिया है। लेकिन अकल चुराने में नाकामयाब हुए है। हमने ही 2500 रूपए धान का समर्थन मूल्य देने का एलान किया था। शराबबन्दी का वादा किया था। लेकिन बताना जरूरी है कि नकल करने से योजना को लागू नहीं किया जा सकता है। जब तक अकल ना हो तो योजना का होना कोई मायने नहीं रखता है।

                एक सवाल के जवाब में जोगी ने कहा कि अमित को सरकार के दबाव में गिरफ्तार किया गया है। जोगी को ऐसे आरोप में गिरफ्तार किया गया है जिसका कहीं एफआईआर में जिक्र नहीं है। चुनाव में भी जोगी ने जन्मस्थान का जिक्र नहीं किया है। चुनाव आय़ोग ने इस बारे में कुछ जानकारी मांगी भी नहीं है। बावजूद इसके उनके जन्मस्थान को लेकर पुलिस कार्रवाई हुई। निश्चित रूप से भूपेश सरकार ने बदलापुर की कार्रवाई की है। 

                                         

                            

Leave a Reply

Your email address will not be published.