इंडिया वाल

अयोध्या विवाद:मामले पर अगली सुनवाई 20 जुलाई को करेगा SC, शिया वक़्फ बोर्ड ने कहा

Supreme Court, Sc, Aadhaar, Bank Frauds, Frauds,नईदिल्ली।अयोध्या भूमि विवाद की सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को हुई सुनवाई खत्म हो गई है। मामले की अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट 20 जुलाई होगी।आज कोर्ट में मुस्लिम पक्षों की दलीलें सुनी गई।  शिया वक़्फ़ बोर्ड ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अयोध्या की विवादित जमीन पर मुस्लिम हिस्से का वह हक़दार है क्योंकि बाबरी मस्ज़िद मीर बाकी ने बनाई थी, जो खुद शिया था।शिया वक़्फ़ बोर्ड ने मुस्लिम हिस्से की जमीन को राम मंदिर के निर्माण में देने की अपील भी कोर्ट से की। शिया बोर्ड ने कहा,’देश में एकता, शांति और सद्भावना के लिए वो विवादित जमीन के मुस्लिम वाले हिस्से को राम मंदिर निर्माण के लिए हिंदुओं को देने के लिए तैयार है।’

शिया बोर्ड ने कहा,’बाबरी मस्जिद का संरक्षक शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड है। कोई अन्य भारत में मुस्लिमों का प्रतिनिधि नहीं है।’वही दूसरी ओर सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड और मुस्लिम पक्षकारों की ओर से पेश वकील राजीव धवन ने दलील दी कि बर्मा में गौतम बुद्ध की मूर्ति को मुस्लिम तालिबान ने ख़त्म किया, वही बाबरी मस्ज़िद को ‘हिन्दू तालिबान’ ने खत्म किया।

राजीव धवन ने कहा,’इस मामले में शिया वक्फ बोर्ड के बोलने का कोई मतलब नहीं है। जिस तरह तालिबान ने बामियान को ढहाया था, उसी तरह हिंदू तालिबान ने बाबरी मस्जिद को ढहाया था।’बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर भूमि विवाद पर जारी सुनवाई में मुस्लिम पक्षों की दलीलें सुनी गई। मुस्लिम पक्ष से पहले चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस ए नजीर की विशेष पीठ ने 17 मई को हिंदू संगठनों की तरफ से पेश दलीलें सुनी थीं।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS