मेरा बिलासपुर

अरपांचल में परिषद का दबदबा..सितम्बर में होगा डीएलएस में चुनाव

IMG_20150806_151036बिलासपुर— छात्रसंघ चुनाव का आझ नाम वापसी का समय खत्म हो गया है। धीरे धीरे स्क्रीन साफ हो गया कि अब मैदान में किसका किससे मुकाबला होगा। बहरहाल छात्र संघ चुनाव में मुख्य मुकाबला एबीव्हीपी और एनएसयूआई के ही बीच होगा। कई जगहों पर एबीव्हीपी के पैनल को निर्विरोध विजेता घोषित कर दिया गया है।

           जानकारी के अनुसार अरपांचल के कई कालेजों में एबीव्हीपी या फिर समर्थित पैनल को चुनाव होने से पहले ही मैदान मार लिया है। जैसा की सीजी वाल ने एक दिन पहले ही बताया था कि डीपी विप्र विधि माहविद्यालय में एबीव्हीपी को वाक ओवर मिल गया है। कालेज में कुल 84 मतदाताओं ने बिना वोट डाले अध्यक्ष-फाऱूख आलम ,उपाध्यक्ष- अभिजीत ठाकुर,सचिव- मधु वैश्य और सह-सचिव- सागर सोनी को मान लिया है।

             नलिनी प्रभा वाणिज्य महाविद्यालय में एबीव्हीपी समर्थित स्वतंत्र उम्मीदवारों की जीत हुई है। यहां से बिना वोटिंग हुए जयंत बनर्जी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष- राधा साहू, सचिव- ज्ञानेश्वर रामटेक और सह-सचिव पर दिलबाग सिंह काबिज हो गये हैं। यहां कुल 140 मतदाताओं को वोटिंग करना था।

               इसी तरह मात्र 20 मतदाताओं वाले नाइसटेक कालेज में भी एक ही पैनल ने चुनाव में फार्म भरा था। यहां भी एबीव्हीपी समर्थित स्वंतत्र पैनल को छात्रों ने निर्विरोध जीत का तोहफा दिया है। यहां अध्यक्ष के लिए दीपाली मानिकपुरी,उपाध्यक्ष- अविनाश डाहिरे, सचिव- दिलेश्वर भारद्वाज, सह सचिव—चन्द्र प्रकाश खांडे ने बाजी मारी है।

               नलिनी कन्या महाविद्यालय में वोटरों की संख्या कुल 455 है। एबीव्हीपी ने अपने पैनल से यहां अध्यक्ष के लिए ज्योति सिंग,उपाध्यक्ष के लिए- स्वाती यादव, सचिव के लिए- शशिकला सूर्यवंशी और सह-सचिव पद पर ज्योति साहू को मैदान में उतारा। इनका मुकाबला एनएसयूआ समर्थित स्वतंत्र पैनल दुर्गेश्वरी राजपूत, रीतू सिंह चौहान(अध्यक्ष),अमृता देवांगन, नीधि गर्ग(उपाध्यक्ष) सीमा साहू और अफसाना बेगम(सचिव) और संतोषी साहू(सह सचिव ) से होगा।

शासकीय योजनाओं से लोगों के जीवन में आने वाले बदलावों पर शोध होनी चाहिए,CVRU के प्रथम दीक्षांत समारोह में शामिल हुईं राज्यपाल आनंदी बेन पटेल

               मिली जानकारी के अनुसार डीएलएस कालेज में चुनाव को लेकर विश्वविद्यालय कार्यसमिति की बैठक हुई थी। निर्णय के अनुसार डीएलएस में चुनाव कराया जाना निश्चित किया गया था। आज डीएलएस कालेज के चैयरमैन ने सुरक्षा और चुनाव को लेकर हाईकोर्ट से स्टे ले लिया है। जानकारी के अनुसार डीएलएस कालेज में अब सितम्बर में चुनाव कराये जांएगे। डीएलएस में वोटरों की कुल संख्या दो हजार पांच सौ है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS