मेरा बिलासपुर

अल्टीमेटम देकर कर्मचारियों ने खत्म किया धरना

IMG_20150827_125121बिलासपुर—चार स्तरीय वेतनमान और जोखिम भत्ता समेत अन्य मांगों को लेकर आज शासकीय कर्मचारियों ने छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के बैनर तले नेहरू चौक पर सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान जमकर नारेबाजी भी हुई।

                                कर्मचारियों ने मांग पूरी होने पर सरकार के खिलाफ आंदोलन करने का एलान किया है। कर्मचारियों के सामुहिक हड़ताल पर चले जाने से जिले के सभी कार्यालय बंद थे। इक्का दुक्का कार्यालय जरूर खुले थे लेकिन वहां भी शासकीय काम नहीं हुआ। जिसके चलते कई कार्य प्रभावित हुए। कई लोगों को तो अपनी अर्जी लेकर जिला कलेक्टर कार्यालय से खाली हाथ लौटना पड़ा।

                   एक दिवसीय सांकेतिक हड़ताल पर गए अधिकारी और कर्मचारियों ने बताया कि वर्तमान सरकार ने चुनाव के पहले अपने घोषणा पत्र में कहा था कि शासकीय कर्मचारियों के विभिन्न समस्याओं को सत्ता में आने के बाद जल्द ही दूर कर लिया जाएगा। लेकिन दो साल के बाद भी सरकार ने अपना वादा नहीं निभाया।

                    उन्होंने बताया कि आज हमने छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन के बैनर तले चार स्तरीय वेतनमान  , जोखिम भत्ता ,वेतन विसंगति , पेंशन ,सेवा आदि में सुधार को लेकर सांकेतिक धरना किया है। कर्मचारी नेता रोहित तिवारी ने बताया कि हमने सांकेतिक धरना के जरिए सरकार को याद दिलाने का प्रयास किया है कि वादों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। अन्यथा इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ेगा। जिसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी।

             धरना प्रदर्शन पर बैठे कर्मचारियों के नेता चन्द्रा ने बताया कि उनकी मांगों को लेकर सरकार ढुलमुल नीति अपना रही है। आज के सांकेतिक धरने से सरकार की व्यवस्था बूरी तरह से चरमरा गयी है। स्वास्थ्य सेवाओं पर सबसे बुरा असर पड़ा है। बावजूद इसके यदि सरकार ने हमें हल्के में लिया तो इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा। फेडरेशन उग्र आंदोलन करेगा।

प्राध्यापकों को गिरफ्तार करने डीपी कालेज पहुंची पुलिस..महिला समेत गवाहों का बयान दर्ज

             नेहरू चौक पर आयोजित धरना प्रदर्शन में छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन के संभागीय और जिला स्तरीय पदाधिकारी और कर्मचारी शामिल हुए।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS