मेरा बिलासपुर

अस्पतालों के आस-पास बेजाकब्जा परेशानी का सबब..जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने जताई चिंता..कहा..प्रशासन को चलाना होगा अभियान

बिलासपुर—- जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने अस्पतालों के आस-पास बेजा कब्जाधारियों को हटाए जाने की मांग की है। प्रेस नोट जारी कर केशरवानी ने बताया कि देश इस समय कठिन परिस्थितियों से गुजर रहा है। हमें पूरा विश्वास है कि सरकार के सहयोग से हर हालत में महामारी पर जीत हासिल करेंगे। लेकिन इन दिनों वर्तमान हालात को देखते हुए बिलासपुर की जनता महसूस कर रही है कि शहर के सभी स्वास्थ्य संस्थानों के आस पास बेजा कब्जाधारियों के खिलाफ अभियान चलाना जरूरी हो गया है।

                जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने प्रेस नोट जारी कर बताया कि हमारी जिला प्रशासन से मांग है कि शहर के सभी अस्पतालों के आसपास बेजाकब्जा धारियों को हटाया जाए। देखने में आया है कि अस्पतालों के आस पास लोगों न बेजाकब्जा कर आने जाने वाले मरीजों के लिए परेशानी का कारण बन रहे है। चाहे सिम्स हो..या जिला अस्पताल,,,अपोलो हो या शहर का कोई अन्य अस्पताल..हर जगह सड़क के किनारे लोगों ने बेजा कब्जा कर लिया है। जिसके चलते एम्बुलेन्स और अन्य मरीज लेकर आने वाले वाहनों कोकाफी परेशानियों का सामना करना पडता है। ताज्जुब की बात है कि मरीजों,परिजनों और संस्थानों की परेशानियों की तरफ अभी तक ध्यान नहीं दिया गया।

                 केशरवानी ने कहा कि अपोलो अस्पताल की तरफ जाने वाली सड़क को बेजा कब्जाधारियों ने गली बना दिया है। जिसके चलते मरीज वाहनों को भारी परेशानी सामना करना पड़ता है। यहां हमेशा व्हीआईपी का भी आना जाना भी होता है। सड़क के दोनों तरफ अवैध पार्किंग, और अतिक्रमण की वजह से यातायात व्यवस्था चरमराना स्वभाविक है। जिला प्रशासन को मामले को गंभीरता से लेते हुए बलात कब्जाधआरियों को हटाने को लेकर अभियान शुरू करना होगा। 

CG Doctor Suspend: स्वास्थ्य सचिव ने किया स्त्री रोग विशेषज्ञ ko सस्पेंड

               विजय ने बताया कि सिम्स  जाने वाली सड़क के किनारे हमेशा भारी अवस्था देखने को मिलती है। प्रदेश का सबसे बड़ा अस्पताल होने के कारम यहां दूर दराज से लोग इलाज कराने पहुंचते हैं। लेकिन बेजाकब्जारियों के जलते यहां भी आम जनता के साथ ही मरीजों और उनके परिजनों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। यह जानते हुए भी बीमार मरीज के लिए एक एक मिनट भारी होता है। लेकिन चन्द मीटर सड़क को पार करने में मरीज वाहन को आधा घण्टा  लग जाता है।

        कमोबेश यही स्थिति जिला अस्पताल की भी है। शासन ने जिला असप्ताल को कविड-19 अस्पताल घोषित किया है। जाहिर सी बात है कि यहां भीड़ से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसलिए यहां भी अवैध कब्जा के खिलाफ अभियान चलाना बहुत जरूरी है ।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS