आईएसआई एजेन्टों को लेने भोपाल गयी बिलासपुर पुलिस

IMG20170503160320बिलासपुर—जम्मू के आरएसपुरा से ट्रांजिट रिमांड पर लाए गए देशद्रोह के आरोपी को न्यायालय ने 15 दिन के न्यायिक रिमांड पर दिया है। बिलासपुर पुलिस देशद्रोह के आरोपी सतविन्दर से लगातार पूछताछ कर रही है। अभी बहुत कुछ जानकारी का मिलना बाकी है। जानकारी के अनुसार बिलासपुर पुलिस को सतविन्दर से सनसनीखेज जानकारियां मिली है।

                                     बिलासपुर पुलिस ने जम्मू से ट्रांजिट रिमांड पर लाए गए देशद्रोह के आरोपी सतविन्दर को 15 दिन के न्यायिक रिमान्ड में लिया है। जानकारी के अनुसार सतविन्दर ने पुलिस को कई सनसनीखेज जानकारियां दी है। फिलहाल मामले में पुलिस कुछ नहीं बता रही है। पुलिस का कहना है कि सुरक्षा और गोपीनियता के लिहाज से मामले में किसी प्रकार की जानकारी बताना मुश्किल है।

                        पुलिस के अनुसार सतविन्दर का पाकिस्तान स्थित आईएसआई आकाओं से गहरे संबध है। सतविन्दर पाकिस्तान को जम्मू कश्मीर क्षेत्र में फौजी गतिविधियों की जानकारी देता था। छावनी,कैम्प,हथियारों समेत सुरक्षा मामले में संवेदनशील स्थानों का फोटोग्राफ भी देता था। पौजी गतिविधियों की रेकी करता था। इसके अलावा फण्डिग के रूपयों को जगह जगह तक पहुंचाने का भी काम करता था। पूछताछ की प्रक्रिया लम्बी है। इसलिए कोर्ट से 15 दिन के न्यायिक रिमान्ड में लिया गया है।

रज्जन और जब्बार को लेने पुलिस रवाना

                     जानकारी के अनुसार सिविल लाइन थाना प्रभारी नजर सिद्धिकी की अगुवाई में बिलासपुर की पुलिस टीम एक दिन पहले भोपाल रवाना हुई है। देशद्रोही गतिविधियों में शामिल रज्जन तिवारी और जब्बार को लेकर पुलिस टीम बिलासपुर पहुंच जाएगी। मालूम हो कि रज्जन तिवारी और जब्बार को मध्यप्रदेश पुलिस ने देशद्रोही गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

                            सतना निवासी रज्जन तिवारी ने ही जांजगीर चांपा निवासी धर्मेन्द्र यादव को दिल्ली में जब्बार से मिलवाया था। एटीएस के धरपकड़ और गुप्तचर से जानकारी के बाद बिलासपुर पुलिस ने चार आईएसआई एजेंटो की धरपकड़ की। सिविल लाइन थाना प्रभारी की शिकायत पर मनेन्द्र यादव, देवांंगन,अवधेश दुबे और धर्मेन्द्र यादव की गिरफ्तारी हुई। धर्मेन्द्र को जम्मू पुलिस ट्राजिट रिमांड पर लेकर गयी है।

                                                बिलासपुर के मगरपारा से हिरासत में लिया गया देशद्रोह का आरोपी अवधेश दुबे रज्जन का रिश्तेदार है। अवधेश ने ही धर्मेन्द्र को रज्जन से मिलवाया। रज्जन ने धर्मेन्द्र को जब्बार से मिलवाया। धर्मेन्द्र दिल्ली में 6 महीने रहकर फण्डिग के रूपए को जब्बार तक पहुचाता था।

                                   बिलासपुर से गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों से पूछताछ के बाद जम्मू पुलिस सतविन्दर को लेकर कश्मीर गयी है। दो एक दिन के भीतर भोपाल से जब्बार और रज्जन को ट्रांजिट रिमांड पर बिलासपुर पुलिस लेकर पहुंचने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *