आधी रात के बाद धान खरीदी केन्द्र पर ताला

dhan2बिलासपुर—आधी रात के बाद धान खरीदी केन्द्र पर ताला लग गया। यानि धान उठाव के अलावा खरीदी का काम नहीं किया जाएगा। जिला प्रशासन के आलाधिकारियों ने धान खरीदी के अंतिम दिन दल के साथ जगह-जगह केन्द्रों का भ्रमण किया। जरूरी दिशा निर्देश दिये। अव्यवस्था की स्थिति में तत्काल सूचना देने को कहा।

                  धान खरीदी के अंतिम दिन शहर के आस पास की समितियों में बचे हुए पंजीकृत किसानों ने धान बेंचा। धान खरीदी का सिलसिला देर शाम तक चलता रहा। सेंदरी, घुटकू, पौंसरा, नगोई, बैमा में अंतिम धान की जमकर खरीदी हुई। बोदरी में दो दिन पहले ही धान खरीदी का काम पूरा हो चुका है। जिला प्रशासन की माने तो दो एक दिन के भीतर समितियों से धान का उठाव पूरा कर लिया जाएगा।

                         करीब ढाई महीने तक जिले के सभी 131 समितियों में रिकार्ड धान की खरीदी हुई। धान बेचने में पिछड़ गए पंजीकृत किसानों ने देर शाम तक मंडी में धान पहुंचाया। जानकारी के अनुसार समितियों में धान बेचने के लिए करीब 25 हजार किसानों ने पंजीयन कराया था।

                                           अंतिम दिन भीड़ के अनुमान को देखते हुए एक सप्ताह पहले ही जिला प्रशासन ने समितियों को मध्य रात्रि तक धान खरीदने का निर्देश दिया था। सभी समितियों को जरूरत के अनुसार बारदाना भी उपलब्ध कराया गया। जिला प्रशासन का दावा है कि धान उठाव डीओ के आधार पर तत्काल या दो एक दिन के भीतर पूरा कर लिया जाएगा।

                अंतिम दिन होने के कारण सुबह से ही समिति पदाधिकारी धान खरीदी केन्द्र में नजर आए। सेंदरी धान खरीदी केन्द्र में किसानों ने शाम तक करीब 150 क्विंटल से अधिक धान बेंचा। सेंदरी समिति अध्यक्ष ने बताया कि 15 नवंबर से अब तक 29  हजार क्विंटल से अधिक धान की खरीदी हुई है। समिति से धान का उठाव भी हो चुका है। आज की जानकारी जिला सहकारी बैंक और विपणन केन्द्र को भेज दिया गया है। स्टाक के अनुसार मिलर्स डीओ कटाएंगे इसके बाद ही धान का उठाव किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *