मेरा बिलासपुर

आधे घंटे की बारिश…स्मार्ट सिटी में हाय तौबा

IMG-20150916-WA0008बिलासपुर— आधे घंटे की झमाझम बारिश ने शहर की पानी निकासी व्यवस्था को एक बार फिर अंगूठा दिखा दिया। आधे घंटे की बारिश ने निगम की सफाई व्यवस्था की सारी कलई को उतार कर रख दिया। टेलीफोन, पुराना बस स्टैण्ड गोल बाजार और तोरवा क्षेत्र सड़कें नदियों में तब्दील हो गयीं।

                 शहर स्मार्ट बनने जा रहा है। व्यवस्था पंचायत जैसी भी नहीं है। आज आधे घंटे की झमाझम बारिश ने निगम को एक बार फिर नीचा दिखाया है। दो महीने पहले बारिश के चलते नगर के सभी महत्वपूर्ण कार्यालयों में पानी भर गया था। निगम ने इस समय दावा किया था कि सब कुछ ठीक कर लिया जाएगा। शुक्र है इस बार बरसात हुई नहीं अन्यथा शहर ही डूब जाता। कम से कम आज की स्थिति को देखने के बाद ऐसा ही अहसास हो रहा है।

                 निगम का सफाई कर्मचारियों पर कोई लगाम नहीं होने से शहर की लगभग सभी नालियां जाम हैं। घरों के सामान्य पानी भी उससे नहीं निकल पाता है। बार-बार की शिकायत के बाद भी निगम ने यह मानकर ध्यान नहीं दिया कि बारिश का मौसम निकल चुका है। आज एक बार फिर शहर के कई महत्वपूर्ण स्थान जलमग्न दिखाई दिये।

                    आधे घंटे की बारिश ने यातायात व्यवस्था को जमकर प्रभावित किया है। वहीं एक बार निगम कर्मचारी अपने अकर्मण्यता को छिपाने के ले दूसरों पर थोपना शुरू कर दिया है। वह मानने को तैयार नहीं है कि सडको और घरों में जलभराव महत्वाकांक्षी सिवरेज और कर्मचारियों की कामचोरी से हुआ है।

अमेठी रायबरेली समेत यूपी में कांग्रेस की लहर...अटल ने बताया...मध्यप्रदेश में होगी जीत..भूपेश ने किया धुआंधार प्रचार

                       बहरहाल लोगों को बारिश के बाद उमस से राहत जरूर मिली है लेकिन पानी की लचर निकासी व्यवस्था से डायरिया जैसी बीमारी निमंत्रण एक बार फिर मिल गया है। अब समय बताएगा कि निगम का स्वास्थय अमला बीमारियों को लेकर कितना सजग है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS