आप प्रदेश अध्यक्ष समेत 14 लोगों पर गैर इरादतन अपराध दर्ज…प्रदेश व्यापी आंदोलन का एलान..कहा स्मार्ट फोन घोटाला करेंगे उजागर

रायपुर/बिलासपुर–आम आदमी पार्टी ने 18 जून को पूरे प्रदेश में धरना प्रदर्शन का एलान किया है। शासन से रायपुर स्थित माना पोर्ट पर गिरफ्तार किये गए सभी 14 आप नेताओं को रिहा करने का लिखित में दबाव बनाएंगे। आप नेताओं ने सभी 14 नेताओं को रिहा नहीं किए जाने पर उग्र आंदोलन के साथ जेल भरो अभियान चलाए जाने का भी एलान किया है।

                 मालूम हो कि प्रधानमत्री के प्रदेश प्रवास के दौरान आप नेताओं ने माना एअर पोर्ट पहुंचकर स्मरण दिलाने का प्रयास किया कि दिल्ली सरकार और एलजी के बीच विवाद में हस्तक्षेप करें। लेकिन पुलिस ने सभी 14 नेताओं को गिरफ्तार कर धारा 151 के तहत जेल भेज दिया। पिछले तीन दिनों से गिरफ्तार किए गए सभी नेता अब भी केन्द्रीय जेल रायपुर में हैं।

                          आप कार्यालय से जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि आप के सभी नेता पिछले 3 दिनों से जेल में आमरण अनशन पर हैं। गिरफ्तार किए गए नेताओं में प्रदेश अध्यक्ष और विधानसभा उम्मीदवार डॉ संकेत ठाकुर, प्रदेश सचिव और रायपुर पश्चिम प्रत्याशी उत्तम जायसवाल, प्रदेश कोषाध्यक्ष और  तखतपुर प्रत्याशी अनिल बघेल, प्रदेश महिला अध्यक्ष, पाटन विधानसभा प्रत्याशी दुर्गा झा प्रमुख हैं।

         बिल्हा विधानसभा प्रत्याशी सरदार जसबीर सिंह और आप के प्रदेश मीडिया प्रभारी जयंत गायधने ने बताया कि सेन्ट्रल जेल में इन प्रमुख नेताओं के अलावा रायपुर लोकसभा अध्यक्ष रायपुर दक्षिण प्रत्याशी मुन्ना बिसेन,डागेश्वर भारती, रायपुर उत्तर प्रत्याशी योगेंद्र सेन समेत 14 पदाधिकारी रायपुर एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने के प्रयास करते पकड़ा गया। सभी लोग 14 जून से अभी धारा 151 लगाकर रायपुर सेन्ट्रल जेल में ही हैं। इन नेताओं से किसी को मिलने नहीं दिया जा रहा है। नेताओं के साथ साथ अपराधियों जैसा सलूक किया जा रहा है।

सभी के खिलाफ गैर इरादतन धाराएं

                     सरदार जसबीर और जयंत गायधने ने बताया कि घटना के बाद जमानत याचिका लगाते समय पता चला कि 15 जून को पुलिस ने गिरप्तार किए गए सभी आप नेताओं के खिलाफ पांच अन्य गैर-जमानती धाराएं 147, 186, 332, 353, 419 लगायी गयी हैं। जबकि यह धाराएँ उन लोगों पर लगाई जाती हैं जो अपराधी होते हैं।

                       इससे जाहिर होता है कि भाजपा सरकार दिल्ली से छत्तीसगढ़ तक आम आदमी पार्टी से डर गयी है। सरकार की दमन की नीति बदस्तूर जारी है। सरकार जनता की ईमानदार आवाज को कुचलना चाहती है।

जेल भरो आंदोलन…के साथ..घोटाला का करेंगे पर्दाफाश

                                   जसबीर और मीडिया प्रभारी ने बताया कि आम आदमी पार्टी प्रदेश की भाजपा सरकार को चेतावनी देती है कि आम आदमी पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं को निशर्त रिहा किया जाए। अन्यथा पूरे प्रदेश में आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता जनता के साथ जेल भरो आंदोलन करेगी।

                       जसबीर ने कहा कि प्रदेश में 18 जून को आम आदमी पार्टी का धरना और राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को ज्ञापन दिया जाएगा। गिरप्तार किए गए नेताओं के लिए रिहाई की मांग की जाएगी। आम आदमी पार्टी भाजपा सरकार की दमनकारी नीतियों से डरने वाली नहीं है। पार्टी छत्तीसगढ़ की गरीब जनता की लड़ाई लड़ने के लिए हमेश से प्रतिबद्ध है।

                         आप नेताओं ने बताया कि आम आदमी पार्टी जल्द ही स्मार्ट फ़ोन घोटाला समेत कई घोटालों को उजाकर करने वाली थी। यही कारण है कि आम आदमी पार्टी को डराने धमकाने की कोशिश की जा रही है। बावजूद इसके आने वाले दिनों में घोटालों का खुलासा किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *