आमरण भूख हड़ताल का एलान…कोर्राम ने बताया..जब तक जांच का आदेश नहीं…तब तक खत्म नहीं होगा अनशन

भानुप्रतापपुर–एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना में भ्रष्टाचार की जांच और कार्यवाही की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी भानुप्रतापपुर विधानसभा अध्यक्ष रमल कोर्राम ने 19 जुलाई से अनशन शुरू किया है। कोर्राम ने एलान किया है कि जब तक जांच की कार्रवाई नहीं होती है। तब तक अनिश्चितकालीन  आहार त्यागकर अनशन पर रहेंगे।

                        भानुप्रतापुर विधानसभा आम आदमी पार्टी अध्यक्ष रमल कोर्राम ने  एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना में  भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। कोर्राम ने बताया कि अधिकारियों ने जमकर रसूखदारों के इशारे पर लूटपाट की है। लगातार शिकायत के बाद भी अधिकारी लोग जांच से मुंह फेर रहे हैं। जबकि पार्टी की तरफ से 10 जून को अनुविभागीय अधिकारी से लिखित में जांच की मांग की गयी थी। 26 जून को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर मामले में जांच के लिे मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी दिया गया था। लेकिन प्रशासन ने हमारी शिकायत को मुख्यमंत्री तक पहुंचाया ही नहीं।

                                                  पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेण्डी ने बताया कि यदि प्रशासन 24 घण्टे के भीतर कोई ठोस कार्यवाही नहीं करता है। साथ ही वर्ष 2012-13 से  2017-18 तक उच्चस्तरीय जांच का एलान नहीं किया जाता है तो हम 22 जुलाई को स्थानीय अनुविभागीय अधिकारी र्यालय का घेराव करेंगे। आंदोलन को और तेज करेंगे।
                                प्रदेश सह संगठन मंत्री मेहर सिंह वट्टी ने कहा कि समझ से परे है कि आखिर भाजपा सरकार के कार्यकाल में घोटाले की जांच कांग्रेस सरकार क्यों नहीं करना चाहती है। यूथ विंग प्रदेश अध्यक्ष तेजेन्द्र तोड़ेकर ने कहा कि बस्तर और छत्तीसगढ़ के आदिवासी बाहुल इलाकों में कई सालों से आदिवासी युवाओं के विकास और रोजगार के लिये सरकार ने ढेर सारी योजनाएं चलायी है। लेकिन विभागीय अधिकारी योजनाओं को कागज में चला रहे हैं। मद के पैसों का बंदर बाट कर तिजोरी भर रहे हैं।  आदिवासियों को योजनाओं का लाभ नही मिल रहा है।
                          पार्टी के वरिष्ठ नेता देवलाल नरेटी ने प्रदेश सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि पन्द्रह साल की भाजपा सरकार को उखाड़ फेंककर छत्तीसगढ़ की जनता ने कांग्रेस की सरकार को चुना है। छत्तीसगढ़ के युवाओं,बेरोजगारों, किसानों के साथ न्याय होना चाहिए। एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना में हुए भ्रष्टाचार की जांच में कोताही बरती जा रही है…जो समझ से परे है। यदि सरकार आरोपियों को बचाने की फिराक में है तो आम आदमी पार्टी आर-पार की लड़ाई के लिए तैयार है।
                       पार्टी के जिलाध्यक्ष हरेश चक्रधारी ने कहा कि हमारी लड़ाई बेरोजगार युवाओं के हक के लिए है। भ्रष्टाचार और कमीशन खोरी के खिलाफ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *