आरोपी को पकड़ने रवाना हुई पुलिस

8-6-15बिलासपुर—बिलासपुर के गंगा नगर मे रहकर भरनी में ईट का कारोबार करने वाले मुंगेली निवासी कारोबारी को फ्लाई ब्रिक्स ईट बनाने की मशीन खरीदने का झांसा देकर बंधक बनाने का मामला सामने आया है । कारोबारी की माने तो फ्लाई ब्रिक्स मशीन खरीदने की बात कह कर उसे पटना मे बंधक बना गया था । अपहरणकर्ताओ को 10 लाख फिरौती देकर घर पहुंचे कारोबारी ने मामले की शिकायत मुंगेली थाने मे दर्ज कराई थी । कारोबारी का व्यापार बिलासपुर मे है इस कारण मुंगेली पुलिस ने बिलासपुर मे ही मामले की शिकायत करने को कहा। जिसके बाद प्रार्थी ने मामले को सिविल लाईन थाने मे दर्ज कराया । सिविल लाईन पुलिस जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रही है ।

                 मुंगेली निवासी स्वप्निल साहू उर्फ डनेश्वर को 21 जून को पटना से किसी राहुल नाम के व्यक्ति ने फोन किया कि उनको फ्लाई ब्रिक्स बनाने के लिए मशीन की जरूरत है । जिसे वह खरीदना चाहता है। पहले तो स्वपनिल ने आने से मना किया बाद में राहुल के बार-बार आग्रह पर वह 21 जून की रात पटना के लिए रवाना हुआ। 22 जून को स्वप्निल को तीन लोग पटना स्टेशन पर मिले। उसके बाद उसे पटना से आठ किलामीटर दूर एक स्थान पर ले जाया गया। जहां पहले से ही कुछ लोग मौजूद थे ।

                बातचीत के दौरान उन व्यक्तियो ने स्वप्निल को पकड लिया और बंधक बना कर फिरौती की मांग करने लगे । पहले तो आरोपियो ने स्वप्निल को छोड़ने के बदले 30 लाख रूपयों की मांग की पर स्वप्निल ने इतनी बड़ी रकम दे पाने मे अपनी असमर्थता जताई और दो लाख रूपये देने की बात कही।

                    इस दौरान अपहरणकर्ताओं ने स्वप्निल को काफी डराया धमकाया। मामला 10 लाख रूपयों पर आकर तय हुआ। स्वप्निल मे अपने परिजनो को मामले की जानकारी दी।  स्वप्निल के पटना मे अपहरण होने की सूचना पर परिजनो ने अपहरणकर्ताओ को 10 लाख की फिरौती देकर घर लौटते ही मुंगेली में एफआईआर दर्ज कराया ।

              कारोबारी को पटना बुलाकर अपहरण करने के मामले मे पुलिस ने तमाम पहलुओ पर जांच करते हुए अपराध दर्ज कर लिया है। एक टीम बिलासपुर से पटना के लिए रवाना गयी है। पुलिस का दावा है कि मामले को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा।

                कारोबारी का अपहरण मामले मे सिविल लाईन पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल पुलिस जानना चाह रही है कि फ्लाई ब्रिक्स का काम करने वाले कारोबारी का नम्बर अपहरणकर्ताओ को कब और कैसे मिला। पुलिस  को शक है कि 10 लाख की इस फिरौती काण्ड में किसी ना किसी परिचित का हाथ जरूर होगा।

आरोपी पकड़ने पुलिस रवाना

                 अश्च्नी की शिकायत पर पुलिस  ने पाया कि वह सही बोल रहा है। बिलासपुर से एक टीम आरोपी को पकड़ने पटना रवाना हो गयी है। स्थानीय पुलिस की सहयोग से उम्मीद है कि आरोपी जल्द ही गिरफ्त में आ जाएगा।

                                                                                             लखन पटले…सीएसपी..बिलासपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *