ई-कामर्स के लिए बेहतर है छत्तीसगढ़

e-comerece

रायपुर  ।  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शनिवार को  यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई)के पूर्वी क्षेत्र की बैठक में निवेशकों को छत्तीसगढ़ आने का न्यौता दिया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सूचना प्रौद्योगिकी के सफलतापूर्वक उपयोग करने वाला देश का अग्रणी राज्य है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कार्य करने की व्यापक संभावनाएं हैं। डॉ. सिंह ने निवेशकों को छत्तीसगढ़ आने और यहां उद्योग लगाने का न्यौता दिया।
उन्होंने कहा कि निवेशकों को छत्तीसगढ़ में बेहतर अधोसंरचना के साथ उद्योग हितैषी नीति और बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। छत्तीसगढ़ विकास के नये दौर में प्रवेश कर रहा है, पिछले पंद्रह वर्षों में प्रदेश में कृषि, उद्योग और सेवा क्षेत्र में एक मजबूत आधार तैयार हो चुका है। मुख्यमंत्री नेे ’ई-कामर्स: दी नेक्सट फ्रांटियर’ विषय पर अपने विचार प्रकट करते हुए कहा सूचना प्रौद्योगिकी का छत्तीसगढ़ में ई- गवर्नेंस, सार्वजनिक वितरण प्रणाली और समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था को सुचारु, पारदर्शी और सुगम बनाने में सफलतापूर्वक उपयोग किया गया है।  प्रदेश के वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के सहयोग से इस बैठक का आयोजन होटल गेटवे में किया गया। वाणिज्य और उद्योग मंत्री  अमर अग्रवाल तथा छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम के अध्यक्ष  छगन मुंदड़ा विशेष अतिथि के रुप में बैठक में उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ग्राम पंचायत स्तर तक सूचना प्रौद्योगिकी का नेटवर्क बनाने के साथ सड़क और रेल मार्ग के विस्तार के कार्य व्यापक पैमाने पर किए जा रहे हैं। प्रदेश में ढाई करोड़ लोगों में से 95 लाख के हाथ में मोबाइल फोन है। वर्ष 2019 तक ग्राम पंचायत स्तर तक इंटरनेट कनेक्टिविटी के विस्तार की योजना है। लोगों को सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग की जानकारी देने के लिए पंचायत स्तर तक प्रशिक्षण अभियान प्रारंभ किया गया हैं, जिससे लोग इंटरनेट को समझे और उन्हें इस बारे में आधारभूत जानकारी हो सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 90 दिनों में किसानों से समर्थन मूल्य पर लगभग ग्यारह हजार करोड़ रूपए मूल्य का धान समर्थन मूल्य पर खरीदा जाता है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत 65 लाख परिवारों को प्रतिमाह 35 किलो चावल और नमक उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग कर सार्वजनिक वितरण प्रणाली और धान खरीदी व्यवस्था को सुगम और पारदर्शी बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इज ऑफ डूइंग बिजनेस के क्षेत्र में भी छत्तीसगढ़ ने कई कदम उठाए हैं।
उद्योग मंत्री  अमर अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ ने बेहतर नीतियों और सक्षम नेतृत्व के कारण विकास के सभी क्षेत्रों में देश में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि पिछले पंचवर्षीय योजना में छत्तीसगढ़ की विकास दर 11 प्रतिशत थी, वर्तमान में यह 6 से 7 प्रतिशत है, जो कि विकास दर से ज्यादा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में व्यापारी वाणिज्यिक टैक्स के लिए ई-रिटर्न और ई-पेमेंट कर रहे हैं। उन्होंने सीआईआई द्वारा प्रदेश के विकास में दिए जा रहे योगदान की सराहना की। सीआईआई पूर्वी क्षेत्र के चेयरमेन  ए.के. वर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़ विकास के मामले में एक आदर्श राज्य है। यहां नीतियां स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि सीआईआई राज्य के विकास में सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर चलेगा। सीआईआई नेशनल कमेटी ऑन ई-कामर्स के चेयरमेन  वीरेश ओबेराय ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जो अच्छे कार्य हुए हैं, उन्हें दूसरे राज्यों में ले जाएंगे। फ्लीपकार्ड कम्पनी के कार्पोरेट प्रेसीडेंट  जॉय बेन्डेकर ने ई-कॉमर्स के बारे में विस्तार से जानकारी दी। आभार प्रदर्शन सीआईआई छत्तीसगढ़ राज्य परिषद के चेयरमेन  आशीष जैन ने किया।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.