मेरा बिलासपुर

उस्लापुर जोन का महत्वपूर्ण स्टेशन…नए CPRO ने कहा…सुझावों को देंगे मंच..5 मार्च से दूसरी पटरी पर दौड़ेगी ट्रेन

बिलासपुर— दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन बिलासपुर के नव पदस्थ सीपीआरओ और डीजीएम रविश कुमार सिंह ने बिलासपुर से पत्रकारों से सौजन्य मुलाकात की। रविश कुमार का परिचय रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी संतोष कुमार ने पत्रकारों से कराया। अपने पहली मुलाकात में रविश कुमार ने कहा कि बिलासपुर में अब से पहले भी सेवा करने का मौका मिला। सौभाग्य है कि मेरे मनपसंद के साथ एक बार फिर बिलासपुर का सेवा करने का अवसर मिला है। रविश कुमार ने बताया कि रेलवे कामकाज का अपना तरीका है। इसके अलावा इन तरीकों और जोन को बेहतर से बेहतर बनाने के लिए क्या कुछ हम सब मिलकर कर सकते हैं। इसलिए पत्रकारों के माध्यम से आम जनता की बातों को ना केवल सुनेंगे। बल्कि विचारों और सुझावों को आलाधिकारियों और उचित मंच तक पहुंचाएंगे भी।

                         पत्रकारों से परिचय कराते हुए संतोष कुमार ने बताया कि रविश कुमार इलेक्ट्रिनक इंजीनियर 2008 बैच के अधिकरी हैं। इलेक्ट्रिनिक इंजीनियरिंग की डिग्री एनआईटी टाटा से लिया है। 2008 में सेवा में आने के बाद बिलासपुर में भी सेवा का अवसर दिया है। सीपीआरओ और डीजीएम बिलासपुर में पद ग्रहण करने से पहले रायपुर में सेवा दिया है।

                          पत्रकारों से परिचय के बाद रविश कुमार बिलासपुर जोन की प्रगति और बेहतर कुछ करने को लेकर लोगों से बातचीत की। सभी पत्रकारों ने परिचय देने के साथ ही बिलासपुर जोन के विकास को लेकर अपनी बातों को खुलकर रखा। रविश कुमार ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि जनता ने बिलासपुर जोन को संघर्ष से हासिल किया है। बिलासपुर जोन का देश में अपना विशेष मकाम है। इसे कायम रखा जाएगा। इसके अलावा बेहतर से बेहतर करने के लिए पत्रकारों के माध्यम से जनता के सुझावों और विचारों को उचित मंच भी दिया जाएगा।

सुशांत समर्थकों ने घेरा कार्यालय...कहा ब्राम्हणों की हुई अनदेखी..निर्दलीय लड़ें चुनाव..तन मन धन से करेंगे काम

                     इस दौरान रविश कुमार ने रेलवे बजट में बिलासपुर को लेकर बातचीत की। उन्होने कहा कि अंतरिम बजट में सरकार ने संरक्षा और सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया है। अधूरे कार्यों को पूरा करने पर्याप्त बजट दिया है। कुछ लंबित योजनाओं के लिए प्राथमिकता के साथ बजट में स्थान दिया गया है।

 उन्होने बताया कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के विभिन्न मंडलों में किए जा रहे विकास कार्यों को 31.20 करोड़ मिले हैं। अमान परिवर्तन से संबधित कार्यों के लिए 400 करोड़ राशि मिली है। यात्री सुविधाओं से संबधित कार्यों के लिए 176.74 करोड़ रूपए विभिन्न योजनाओं के लिए मिले हैं।

नई लाइनों के लिए बजट

                 रविश कुमार ने बताया कि नई लाइनों के लिए हासिल बजट राशि 31.20 करोड़ है। प्रमुख परियोजनाएं प्रगति पर हैं। इसमें प्रमुख रूप से दल्ली राजहरा परियोजना 235 किलोमीटर, वडसा- गढ़चिरौली परियोजना 49.5 किलोमीटर, रायगढ़- भूपदेवपुर परियोजना 63 किलोमीटर, गोवरा रोड-पेन्ड्रा रोड परियोजना 310 किलोमीटर, वरवाडीह- चिरमिरी परियोजना 180 किलोमीटर, रायपुर- झारसुगड़ा परियोजना 310 किलोमीटर, डोंगरगढ़-खरसिया-कवर्धा-बिलासपुर परियोजना 270 किलोमीटर,धरमजयगढ़- कोरबा परियोजना 83 किलोमीटर,चिरमिरी-नागपुर हाल्ट परियोजना 11 किलोमीटर है। इन सबी परियोजनाओं पर राशि खर्च होगी।

अामान परिवर्तन कार्य

              जोन के विभिन्न मंडलों में अामान परिवर्तन का काम तेजी हो रहा है। बजट में कुल 400 करोड़ राशि मिली है। इसमें जबलपुर- गोंदिया 285 किलोमीटर,जबलपुर-नागपुर परियोजना 149.522 किलोमीटर है।

विभिन्न कार्यों के लिए 174.74 करोड़ रूपए

           रविश कुमार ने बताया कि रायपुर,डोंगरगढ़,भाटांपारा,तिल्दा,दुर्ग,बिलासपुर,उस्लापुर,नागपुर समेत अन्य स्टेशनों में यह राशि खर्च होगी। राशि से प्लेटफार्म, एफओबी,आरपीएफ पोस्ट,बैरक का निर्माण किया जाएगा। 2 स्टेशनों में स्कैलेटर भी लगाए जाएंगे। रायगढ़-कटनी के बीच 15 स्टेशनों के प्लेटफार्म को ऊंचा करेंगे। रायपुर और दुर्ग के मध्य कुछ स्टेशनों में प्लेटफार्म को बढ़ाएंगे। रायपुर,तिल्दा,भाटापारा, भिलाई पावर हाउस स्टेशन का विस्तार होगा।

टल गया द बर्निंग ट्रेन हादसा...खाक होने से पहले पहुंच गयी टीम...ईगल टीम और डायल 112 की बड़ी कार्रवाई

उस्लापुर महत्वपूर्ण स्टेशन…क्रमिक होगा विकास…

  बातचीत के दौरान रविश कुमार ने बताया कि दक्षिम पूर्व मध्य़ रेलवे जोन में उस्लापुर महत्वपूर्ण स्टेशन है। स्टेशन का हम क्रमिक उन्नयन कर रहे हैं। धीरे धीरे गाड़ियों की संख्या बढ़ा रहे हैं। जरूरत के अनुसार स्टेशन का भी विकास कर रहे हैं। जैसे जैसे गाड़ियों की संख्या बढ़ेगी..धीरे धीरे जरूरत के हिसाब से स्टेशन का स्वरूप बदलेगा। सुविधाएं भी अपने आप बढ़ेंगी। एक प्रश्न के उत्तर में रविश कुमार ने कहा कि स्टेशन के सामने से आम रास्ता फिलहाल बन्द नहीं होगा। जरूरत पड़ी और हमारी जमीन है ऐसी सूरत में रास्ता बंद की उचित कार्रवाई भी होगी।

पांच मार्च से दौड़ेगी ट्रेन

                       रविश कुमार ने बताया कि यह सच है कि ट्रेन रद्द होने से लोगों को तकलीफ हुई है। लेकिन हमने तीर्थ यात्री गाड़ी को रद्द नहीं किया है। यात्रियों को कुछ परेशानियां हुई है। जब यहां से कटनी की तरफ दूसरी रेल लाइन पर 5 मार्च से ट्रेन दौड़ने लगेगी..सारी तकलीफें दूर हो जांएगी। उन्होने कहा कि इस समय सालबहरा स्टेसन में अंतिम ब्लाक की कार्रवाई हो रही है। काम पूरा होने के बाद पांच मार्च से दोनों पटरियों पर गा़ड़ियां दौड़ने लगेंगी। दो दिन बाद पेन्ड्रा से दूसरी पटरी पर गाड़ी कटनी तरफ चलने लगेगी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS