एअरपोर्ट आंदोलनः केशरवानी समाज का समर्थन–वक्ताओं ने कहा…6 सौ करोड़ सिवरेज को मिल सकता है.. एअरपोर्ट को 100 करोड़ क्यों नहीं..?

बिलासपुर—हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का अखंड धरना 63वें दिन भी जारी रहा। शुक्रवार को केशरवानी वैश्य समाज ने धरना स्थल पहुंचकर आंदोलन का समर्थन किया।

             केशरवानी वैश्य समाज के अध्यक्ष राजकुमार गुप्ता ने कहा कि बिलासपुर में राज्य निर्माण के 19 साल के बाद भी एयरपोर्ट का नही होने का सीधा अर्थ राजनीतिक षड़यंत्र है। समाज के सचिव विजय कुमार गुप्ता ने कहा कि बिलासपुर क्षेत्र व्यवसाय के मामले में लगातार पिछडता जा रहा है। विकास और रोजगार के लिए आवश्यक है कि बिलासपुर मेें एयरपोर्ट की स्थापना की जाए। समाज के उपाध्यक्ष राजेश केशरवानी और सुजीत गुप्ता ने कहा कि बिलासपुर में बडी कंपनियां अपना डिपो या सी.एन.एफ. खोलने से परहेज करती हैं। इसकी मुख्य वजज यहां हवाई सुविधा का नहीं होना है। इसका बडा नुकसान क्षेत्र को भुगतना पड़ रहा है।

                 केशरवानी समाज से महिला शक्ति ने भी आवाज बुलंद किया। मनीषा केशरवानी ने  कहा कि राज्य निर्माण के समय  बिलासपुर और रायपुर में दोगुने का अंतर था। आज यह अन्तर बढ़कर  पांच गुने से अधिक हो गया है। अगर आज हम सबने मिलकर बिलासपुर में हवाई सुविधा हांसिल नही हासिल किया तो अंतर बढकर दस गुना हो जाना निश्चित है। समाज की महिला अध्यक्ष नीता केशरवानी ने कहा कि आवागमन के साधन का विस्तार विकास की पहली जरूरत है। यदि एयरपोर्ट से महानगरों तक सीधी उडान होगी तो मस्तूरी क्षेत्र उससे सीधे-सीधे लाभान्वित होगा। मस्तूरी से विमानतल की दूरी 15 किलोमीटर से भी कम है।

                  महामंत्री रोहित केशरवानी ने बताया कि हजारों करोड का राजस्व खनिज सम्पदा के दोहन से बिलासपुर संभाग राज्य और केन्द्र सरकार को दे रहा है। लेकिन बदले में बिलासपुर को उपेक्षा और अन्याय मिल रहा है। आर्किटेक्ट रविन्द्र केशरवानी ने आंदोलन तेज करने की जरूरत पर बल दिया। धीरेन्द्र केशरवानी ने कहा कि चकरभाठा एयरपोर्ट के लिये 100 करोड रूपये की राश अधिकतम लगना है।  यदि 600 करोड का सीवरेज प्रोजेक्ट मंजूर हो सकता है, तो एयरपोर्ट के लिए क्या 100 करोड भी मंजूर नहीं हो सकते?

                    केशरवानी वैश्य समाज की ओर से नगर प्रभारी संगीता केशरवानी ने बिलासपुर एयरपोर्ट के लिये होने वाले हर जन संघर्ष में पूरी भागीदारी की समर्थन किया। उन्होने कहा कि हम नगरबंद आंदोलन के लिए तैयार हैं। सभा का संचालन मनोज तिवारी ने किया। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन राकेश शर्मा ने किया।

             धरना प्रदर्शन के दौरा्न केशरवानी वैश्य समाज की तरफ से ऋचा केशरवानी- राजेष कुमार केशरवानी, के.पी.गुप्ता, हेमन्त केशरवानी, अनवर केशरवानी, मनीषा दिवान, राजकपूर गुप्ता, विजय कुमार गुप्ता, अषोक केशरवानी धीरेन्द्र केशरवानी, रघुवीर केशरवानी समेत कई लोग मौजूद थे। धरना में समिति की तरफ से रामशरण यादव, देवेन्द्र सिंह बाटू, शख अल्फाज-फाजू, पप्पू तिवारी, केशव गोरख, रघुराज सिंह, पवन पाण्डेय, संतोश पिपलवा, समीर अहमद-बबला, गोपल दुबे, कमल सिंह, श्याम पटेल, देव साहू, पप्पू शर्मा, बद्री यादव समेत सुदीप श्रीवास्तव  उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *