मेरा बिलासपुर

एकात्म परिसर की घटना शर्मनाक…उजागर हुई भाजपा की कथनी…कांग्रेस नेताओं ने कहा..कौशिक ने क्यों नहीं बताया

बिलासपुर— रायपुर स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय एकात्म परिसर में पत्रकार से मारपीट की घटना का बिलासपुर कांग्रेस ने निंदा की है। प्रेस नोट जारी कर कांग्रेस नेताओं ने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को बलपूर्वक दबाने का प्रयास किया गया है। निश्चित रूप से ऐसा करना भाजपा की सोची समझी रणनीति का हिस्सा है। चौथे स्तम्भ के साथ ऐसी हरकत किसी भी सूरत में बर्दास्त के काबिल नहीं है।
                                                                 कांग्रेस प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, ज़िला अध्यक्ष विजय केशरवानी, शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर और प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय ने प्रेस नोट जारी कर बताया कि भाजपा के नेताओ को प्रजातांत्रिक व्यवस्था पर विश्वास नही रह गया है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि पत्रकार निष्पक्ष होकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं। उन पर कायराना हमला और काम में बाधा पहुंचाना भाजपा नेताओं की शर्मनाक हरकत है।
                                                कांग्रेस नेताओं ने बताया कि जब पत्रकार सुमन अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहा था , ठीक उसी समय भाजपा नेताओं का पत्रकार पर जानलेवा हमला कर घायल करना गम्भीर अपराध है। ऐसे असमाजिक तत्वों को जिन्होंने प्रजातन्त्र का चोला ओढ़कर समाज मे भय का वातावरण निर्मित किया है..उन पर बड़ी कारवाही की जाए।
                    अटल श्रीवास्तव,विजय,नरेन्द्र और अभय ने कहा कि भाजपा शासन काल मे बस्तर से रायपुर, बिलासपुर और तक पत्रकारों को प्रताड़ित किया गया। कई पत्रकारों को जान भी गवानी पड़ी। लेकिन किसी भी हमलावर पर कोई कार्यवाही नही हुई। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक को प्रदेश के कानून व्यवस्था पर बड़ी चिंता है। होनी भी चाहिये …पर इस बात पर उन्हें गौर करना भी होगा कि उनके ही उपस्थिति में एकात्म परिसर में पूर्व विधायक के साथ बदसूलकी ,पत्रकार के साथ मारपीट हुई। प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते पुलिस को सूचित करना भी उन्होने मुनासिफ नही समझा। उल्टा बिजली गुल कर निकल जाना और प्रदेश में कानून व्यवस्था पर चिंता करना हास्यास्पद है । भाजपा के ऐसे पदाधिकारियो पर कार्यवाही नहीं करना कथनी और करनी को जाहिर करता है।

लोकतंत्र में जनता सबसे ऊपर--अमित जोगी
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS