मेरा बिलासपुर

एक्टिविस्ट ने की जांच की मांग

29 JULY 15बिलासपुर—- आरटीआई कार्यकर्ता बिहारी सिंह टोडर ने तखतपुर के समडील नवापारा एनीकट निर्माण में करोड़ों रूपए के घपला किये जाने का आरोप लगाया है। बिहारी सिंह का आरोप है मात्र तीन साल के भीतर ही एनीकट की हालत बद से बदतर हो गयी है। उन्होंने इस मामले में मुख्यमंत्री और जल संसाधन मंत्री से मामले में जांच की मांग की है।

                     आरटीआई कार्यकर्ता ने बताया कि समडील नवापारा में 2013 में शासन के आदेश पर चार करोड़ अरसठ लाख रूपए की तागत से एनीकट का निर्माण किया गया। निर्माण में भारी अनियमितता और भ्रष्टाचार का खेल खेला गया है। बिहारी ने बताया कि आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार स्टापडेम मात्र आधे रकम में ही बनाकर तैयार किया गया। शेष रकम को अधिकारियों ने पचा लिया है।

                 बिहारी सिंह के अनुसार एनीकट नक्शे में प्रथम फ्लोर की गहराई ढाई मीटर और द्वितिय प्लोर की गहराई पौन दो मीटर होनी चाहिए किन्तु मात्र कुछ मीटर ही गहरा कर एनीकट को खड़ा कर दिया गया। उन्होंने बताया कि इसकी जानकारी कोर कटिंग मशीन से की जा सकती है। एनिकट का लेबल भी असामन्य है।

             एनीकट निर्माण में गुणवत्ताविहिन सामाग्रियों का प्रयोग किया गया है। एनीकट फ्लोर बुरी तरह से मात्र तीन साल में उखड़ गया है। पानी का भराव रहता है। इसमें अन्य सामाग्रियों का प्रयोग दोयम दर्ज का हुआ है। यदि जांच हो तो सारी खामियां सामने आ जाएंगी। बिहारी ने बताया कि तीन साल बाद भी अभी तक एनिकट का वाया तट का काम पूरा नहीं हुआ है। साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांक्रीटीकरण के समय वाइव्रेटर मशीन का इस्तेमाल नहीं हुआ है। जिसके कारण गिट्टियां बाहर आने लगी है। भविष्य खतरा भी हो सकता है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS