एल्डरमैन मनीष ने कहा…कांग्रेसियों ने किया था अपने ही नेता का अपमान…विकास के पहिए को पटरी से उतारा

बिलासपुर— एल्डरमैन मनीष अग्रवाल ने कांग्रेसी नेताओं को अोछी और छोटी मानसिकता वाल बताया है। इसी छोटी मानसिकता ने कांग्रेस का बंटाधार किया है। इन्ही लोगों ने ही देश को विकास की पटरी से उतारा है। एक दिन पहले नगर निगम सामान्य सभा में कांग्रेसियों ने ओछी मानसिकता का परिचय देकर शर्मसार किया है।
                       एल्डरमैन मनीष अग्रवाल ने एक दिन पहले निमग की सामान्य सभा में कांग्रेसियों की हरकत को शर्मसार करने वाला बताया है। मनीष ने कहा कि कांग्रेस की इसी ओछी मानसिकता ने देश को विकास की पटरी से उतारा है। जब विकास का कार्य तेजी हो रहा है तो कांग्रेसियों को पेट में मरोड़ उठने लगा है। मनीष ने कहा कि कांग्रेसी चाहते थे कि सामान्य सभा श्रद्धांजलि के बाद नहीं होनी चाहिए। लेकिन इस बात का फैसला एक दिन पहले भी लिया जा सकता था। लेकिन उन्होने ऐसा नहीं किया। इससे जाहिर होता है कि कांग्रेसियों ने पहले से गोलबंदी कर सामान्य सभा में हंगामा करने का फैसला कर लिया था।निश्चित रूप से उनकी ओछी मानसिकता को जाहिर करता है। दरअसल हंगामा जनता के हित में नहीं बल्कि सुर्खियों में रहने के लिए किया गया।
              अटल विहारी वाजपेयी देश के सर्वमान्य नेता रहे हैं। उन्हें सभी दलों में सम्मान की नजर देखा जाता था। उन्होने हमेशा विकास और शांति का रास्ता अपनाया। बावजूद इसके श्रद्धांजलि के विकास कार्य का विरोध किया गया। मनीष ने कहा कि स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई की अस्थि कलश यात्रा के बारे में कांग्रेसियों ने राजनीतिक बता कर जनता का अपमान किया है। भाजपा पर धर्म विरोधी आरोप लगाकर स्वर्गीय अटल बिहारी की आत्मा को ठेस पहुंचाया है। वाट्सअप पर अपमानजनक फोटो चलाकर कांग्रेसियों ने अपनी घटिया मानसिकता का परिचय दिया है।
           मनीष ने कहा कि कांग्रेसियों का अपने नेताओं को नीचा दिखाने का इतिहास रहा है। अब तो यह लोग भारत रत्न का भी अपमान करने से नहीं चूक रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव के शव को कांग्रेसियों ने कांग्रेस मुख्यालय में घुसने नहीं दिया। स्वर्गीय इंदिरा और राजीव गांधी की तरह स्वर्गीय नरसिंह राव  को सम्मान नहीं किया। ढोंग करना कांग्रेसियों की आदत में शुमार है। शोक संवेदना पर राजनीतिक तर्क वितर्क करना कांग्रेस नेताओं का शगल है। अगर भाजपा अपने पितृ पुरुष का सम्मान करे तो उन्हें तकलीफ होती है। इसमें भी कांग्रेसी राजनीति करने से बाज नहीं आते हैं। जनता सब देख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *