मेरा बिलासपुर

एसबीआई स्थापना दिवस पर पुष्पा दीक्षित का सम्मान

PUSHPA DIXIT

बिलासपुर । बैंक आम नागरिकों के सामाजिक हित के साथ विश्वास जीते। स्टेट बैंक का सामाजिक सरोकार तथा राष्ट्र निर्माण में उल्लेखनीय योगदान है।उक्त बातें संभागीय कमिश्नर सोनमणि बोरा ने  हाॅटल कोर्टयार्ड मेरिएट में आयोजित स्टेट बैंक के 60 वें स्थापना दिवस समारोह में कही।
उन्होने  कहा कि स्टेट बैंक के बैंकिग सेवा का एक लंबा इतिहास है। स्वतंत्र राष्ट्र में स्टेट बैंक आफ इंडिया के रूप में 1 जुलाई 1955 से स्थापित बैंक ने लोगों का विश्वास पाया हैै। इसी विश्वास के साथ वह देश के हर नागरिक का अपना बैंक कहलाता है। बैंकिग सेक्टर में आजादी के पश्चात् स्टेट बैंक ने अपनी उर्जा राष्ट्र निर्माण में लगाया है। आज यह 32 देशों में अपनी सेवायें उपलब्ध करा रहा है। उन्होने कहा कि स्टेट बैंक ने जनधन योजना एवं जीवन सुरक्षा बीमा योजना से प्रत्येक नागरिक तक अपनी पहुॅंच बना ली है। यह बैंकिग इतिहास की अभूतपूर्व घटना है। स्टेट बैंक ने अपने दीर्घकालिक इतिहास में सामाजिक सरोकार के साथ कई एवार्ड जीता है। बैंकों के प्रति लोेगों की अपेक्षायें बढ़ रही है। आने वाले समय में सभी बैंक देश निर्माण में अपनी भूमिका निभायेंगे।
स्टेट बैंक के उपमहाप्रबंधक  ओ.पी. मिश्रा ने कहा कि यह स्टेट बैंक आफ इंडिया के स्थापना की हीरक जयंती है। उन्होने स्टेट बैंक की स्थापना के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि यह बैंक इसके पूर्व बैंक आफ बेंगाल (कलकत्ता) एवं इम्पीरियल बैंक के रूप में भी जाना जाता रहा है। इसका इतिहास 1806 से है। स्टेट बैंक की जानकारी देते हुए उन्होने कहा कि हमारे बैंक का आज 22 करोड़ से भी अधिक एक्टिव कस्टमर है। हमारा व्यवसाय 27 लाख करोड़ को भी पार कर लिया है। स्टेट बैंक की जानकारी देते हुए उन्होने कहा कि हमने लोगों का विश्वास जीता है। वही हमारी शक्ति है।
समारोह में रेलवे के डी.आर.एम  देवराज पंडा एवं एस.ई.सी.एल के डायरेक्टर फायनेन्स  ए.पी.पंडा एवं लघु उद्योग विकास निगम के अध्यक्ष  हरीश केडि़या ने भी शुभकामनायें देते हुए अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में संस्कृत की वरिष्ठ साहित्यकार श्रीमती पुष्पा दीक्षित का शाल एवं श्रीफल से सम्मान किया गया।
कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथियों एवं उपस्थित बच्चो ने स्थापना दिवस का केक काट कर शुभारंभ किया। इस अवसर पर भारी संख्या में स्टेट बैंक अधिकारी सपरिवार एवं बैंक के कस्टमर उपस्थित थे।

अनियंत्रित बस ने बछिया को मारी टक्कर, कार्यवाई की मांग
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS