ऑनलाइन क्लास नहीं लेने वाले शिक्षकों को जारी होगी नोटिस , समीक्षा बैठक मे कलेक्टर ने दिए निर्देश

जशपुर नगर । शिक्षक  कोरोना काल में जिस तरह से ऑनलाईन कक्षा ,मोहल्ला क्लास संचालित कर रहे हैं, यह शिक्षकों के लिए चुनौतिपूर्ण कार्य है। हमारे शि़क्षक विषम भौगौलिक परिस्थिति के बावजूद भी बेहतर तरीके से शिक्षण कार्य कर रहे हैं  । जो प्रशंसनीय है। उक्त विचार जिला कलेक्टर महादेव कावरे के यशस्वी जशपुर द्वारा जिले के सभी विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी एवं शासकीय हाई स्कूल/हायर सेकेंडरी  विद्यालयों  के प्राचार्यों की वेबेक्स के माध्यम से  आयोजित बैठक किए .

उन्होने कहा कि जिले में 147 हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालय संचालित है । जिले में गत कई वर्षाें से परीक्षा परिणाम बेहतर रहा है । जिसके कारण जिला शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश भर में जाना जाता है। जिले में संचालित विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को ऑनलाईन कक्षा एवं मोहल्ला क्लास से बच्चों की उपस्थिति संतोषजनक नहीं है। जिले के कुछ शिक्षक ऑनलाईन कक्षा नहीं ले रहे हैं जिनके विरूद्ध अनुशानात्मक कार्यवाही की जावेगी। श्री कावरे ने कहा कि जिन विद्यालयों का कक्षा 10वीं एवं 12वीं का परीक्षा परिणाम शैक्षणिक सत्र 2019-20 से खराब रहा है उन्हें शैक्षणिक गुणवत्ता सुधारने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जिन विद्यालयों में आनलाईन कक्षा एवं मोहल्ला क्लास में विद्यार्थियों की उपस्थिति कम है, ऐसे विद्यालयों को चिन्हित कर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी निरीक्षण कर कार्यवाही सुनिश्चित करें। सभी शिक्षकों को पाठ्यक्रम पूर्णता की स्थिति पर ध्यान देना चाहिए और निर्धारित पाठ्यक्रम अनुसार समय पर पाठ्यक्रम पूर्ण करें।

श्री कावरे ने जिला शिक्षा अधिकारी से कहा है कि जिन विद्यालयों का  शैक्षणिक सत्र 2019-20 में कक्षा 10वीं एवं 12वीं में  50 प्रतिशत से कम परीक्षा परिणाम है ,उनके प्राचार्यो को कारण बताओ नोटिस जारी करें। उन्होंने कहा कि आनलाईन कक्षा नहीं लेने वाले शिक्षकों को भी नोटिस दिया जावे। कलेक्टर महोदय ने मुख्यालय में नहीं रहने वाले शिक्षकों पर अनुशासनात्मक कार्यवाही करने का निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिया। आनलाईन बैठक में एन.कुजूर, जिला शिक्षा अधिकारी जशपुर ने कहा कि सभी प्राचार्य बोर्ड परीक्षा के परीक्षा परिणाम का विश्लेषण  करें और निष्कर्ष निकालें कि उनके विद्यालय का परीक्षा परिणाम कम कैसे आया और रणनीति बनाकर बेहतर परिणाम के लिए  कार्य करे। श्री कुजूर ने कहा कि आश्रम/छात्रावास के बच्चे जो कोरोना काल में  अपने-अपने घर चले गए हैं ऐसे बच्चों को चिन्हिंत कर उन्हें उसी गांव के मोहल्ला क्लास में सम्मिलित  कराने की पहल  करनी  चाहिए।

बैठक में यशस्वी जशपुर के नोडल अधिकारी विनोद कुमार गुप्ता ने कहा कि आनलाईन/मोहल्ला क्लास के माध्यम से विद्यालय के अधिकांश  बच्चो  तक शिक्षक की पहुंच होना चाहिए और विद्यालय के प्राचार्याें  को  प्रतिदिन बच्चों की उपस्थिति की समीक्षा करनी चाहिए। श्री गुप्ता ने कहा कि विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों को अपने विकासखण्ड के विद्यालय स्तर की समस्याओं के समाधान हेतु सार्थक पहल करनी चाहिए। इस बैठक में जिले के सभी विद्यालयों के बोर्ड परीक्षा परिणाम की  विद्यालयवार समीक्षा की गई।कलेक्टर ने बैठक में अनुपस्थित रहने वाले प्राचार्यों को कारण बताओ नोटिस देने का निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिया। बैठक में एन. कुजूर, जिला शिक्षा अधिकारी जशपुर, यशस्वी जशपुर के नोडल अधिकारी विनोद कुमार गुप्ता, सदस्य संजीव शर्मा, संजय दास सहित सभी विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी सहित प्राचार्य सम्मिलित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *