कलेक्टर ने ली राजस्व विभाग के मैदानी अमलों की मीटिंग,पांच तहसीलदारों के वेतन रोकने-शुल्क अधिरोपित करने की कार्यवाही


जांजगीर-चांपा-
कलेक्टर नीरज कुमार बनसोड़ ने जिला पंचायत परिसर के पुराना लाईवलीहुड भवन में राजस्व विभाग के मैदानी अमलों की बैठक ली। कलेक्टर ने कहा कि आरआई व पटवारी किसानों के हित में कार्य करें। वरिष्ठ कार्यालयों व न्यायालय के निर्देशानुसार तत्काल राजस्व रिकार्ड को दूरूस्त करें। इसी प्रकार बंटवारा, क्रय-विक्रय, भू-अर्जन, अधिग्रहण होने पर भी रिकार्ड में तुरंत संशोधन करें। रिकार्ड संशोधन नहीं होने की स्थिति में राजस्व संबंधी विवाद उत्पन्न होते हैं। सड़क निर्माण सहित अन्य विकास के कार्य भी भूमि संबंधी विवाद के कारण समय पर पूर्ण नहीं हो पाते। कलेक्टर ने राजस्व संबंधी प्रकरणों को लंबित रखने वाले आरआई व पटवारियों के प्रति कड़ी नाराजगी व्यक्त की।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

कलेक्टर ने कड़े शब्दों में कहा कि एसडीएम द्वारा आरआई व पटवारियों का मुख्यालय दिवस, तहसील कार्यालय में उपस्थिति का दिवस निर्धारित कर दिया है। पटवारी व आरआई मुख्यालय के निर्धारित दिवस में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें। किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। कार्य के प्रति लापरवाही अथवा विलंब करने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि रिकार्ड दुरूस्त करना एक सतत् प्रक्रिया है, लंबित रखने पर भू-अधिग्रहण, मुआवजा वितरण, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी आदि के कार्य भी प्रभावित होते हैं। जिसके कारण वास्तविक भूमि स्वामी को समय पर लाभ नहीं मिल पाता।

अपर कलेक्टर लीना कोसम ने कहा कि फसल बीमा योजना के संबंधित रिपोर्ट समय पर प्रस्तुत करें। किसानों को योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए। डायवर्सन, क्रय-विक्रय, बंटवारा, फौत, भू-अधिग्रहण आदि होने की स्थिति में इसका उल्लेख तत्काल करें। डिप्टी कलेक्टर इन्द्रजीत बर्मन और भू-अभिलेख अधीक्षक धीवर ने भी राजस्व से संबंधित प्राप्त निर्देशों के संबंध में विस्तार से बताया ।

लोक सेवा गारंटी अधिनियम के निर्धारित अवधि में कार्यवाही सुनिश्चित नहीं करने पर पांच तहसीलदारों के वेतन रोकने की कार्यवाही की जा रही है। जांजगीर, डभरा, अकलतरा, नवागढ़ और मालखरौदा के तहसीलदारों द्वारा अधिनियम के तहत चिन्हांकित किये गये सेवाओं को लंबित रखने पर यह कार्यवाही की गई। अधिनियम का उल्लघंन पाये जाने पर जिम्मेदारों के खिलाफ नियमानुसार शुल्क अधिरोपित करने की कार्यवाही भी की जाएगी। । बैठक में जांजगीर एसडीएम श्री के.एस पैकरा सहित राजस्व विभाग के मैदानी अमला उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *