मेरा बिलासपुर

कांग्रेसियों ने किया कमिश्नर का घेराव…

IMG-20150713-WA0003बिलासपुर— नगर निगम कांग्रेस पार्षद दल ने आज कमिश्नर से मुलाकात कर वार्ड संबधि समस्याओं से अवगत कराया। कांग्रेस पार्षदों ने कहा कि पिछले सात माह से सामान्य सभा की एक भी बैठक नहीं बुलाई गयी है। पार्षदों को समझ में नहीं आ रहा है कि वह अपनी समस्याओं को आखिर किसके सामने और कैसे रखें। मुलाकात के दौरान कांग्रेस पार्षदों ने आयुक्त से लिखित शिकायत करते हुए कहा कि यदि  समस्याओं का निराकरण  दस दिन के भीतर नहीं होता है तो  उग्र आंदोलन किया जाएगा।

                      निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन की अगुवाई में नगर वासियों की समस्या को लेकर आज कांग्रेस पार्षद दल निगम कमिश्नर रानू साहू से मुलाकात की। कांग्रेस पार्षदों ने आयुक्त से कहा कि शहर में सड़क,पानी,बिजली और सफाई की व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर निगम प्रशासन है भी या नहीं। पिछले तीन दिनों की बारिश ने शहर को अस्त-व्यस्त कर दिया है। जिसका सबसे बड़ा कारण शासक दल है।

                         शेख नजरूद्दीन ने बताया कि शहर की नालियां जाम हो गयी हैं। मानसून के पहले इन्हें साफ नहीं किया गया। जबकि निगम चुनाव के बाद पांचवे महीने में ही कांग्रेस पार्षदों ने नाला नालियों की साफ सफाई और बिजली व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए ज्ञापन दिया था। बावजूद इसके निगम ने मांगों को नजरअंदाज कर दिया। जिसका नतीजा शहर वासियों को घुटने भर पानी में रहकर चुकाना पड़ा।

                        निगम नेता प्रतिपक्ष ने पत्रकारों से बताया कि निगम सामान्य सभा की बैठक विधानसभा की तर्ज पर तीन दिन की होनी चाहिए। सभी पार्षदों को अपनी बातों और वार्डों की समस्याओं को रखने का बेहतर अवसर मिलेगा। हर माह यदि इस तरह की बैठक बुलाई जाती है तो सम्बधित अधिकारियों की जवाबदारी भी तय होगी। नजरूद्दीन ने बताया कि आज तक निगम ने सामान्य सभा का आयोजन नहीं किया है। इसके पहले दोनों सभाएं विशेष थी। इसमें वार्ड हित के लिए किसी प्रकार की चर्चा नहीं हुई थी। नियमानुसार प्रत्येक दो माह में सामान्य सभा बुलाने का प्रावधान है। लेकिन सभापति और महापौर के कान में जूं तक नहीं रेंग रहा है।

15 साल में जो संभव नहीं हुआ..सीएम ने 18 महीने में कर दिखाया..राजस्व मंत्री ने कहा..टाप रैंक किया हासिल

                         आयुक्त से मुलाकात के दौरान पार्षद दीपांशु श्रीवास्तव ने कहा कि रिवर व्यू का निर्माण तो प्रशासन किया लेकिन सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते कुछ असामाजिक तत्व रिवर व्यू क्षेत्र में सक्रिय हो गए हैं। खासतौर यहां महिलाओं का आना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि सामानों की चोरी भी हो रही  है। पार्षद की शिकायत पर आयुक्त ने कहा कि रिवर व्यू की सुरक्षा के लिए पुलिस कप्तान को पत्र लिखकर सूचित कर दिया है।

                   निगम आयुक्त ने पार्षद दल से कहा कि शहर की समस्याओं के निराकरण के लिए निगम प्रशासन ने स्मार्ट सिटी बिलासपुर एप्स की शुरूआत की है। जिस पर सभी लोग अपनी शिकायत भेज सकते हैं। इसके जरिए संबधित अधिकारी के साथ ही उन्हें भी  समस्याओं की जानकारी मिल जाएगी।

                   कांग्रेसी नेता अभय नारायण राय ने निगम कमिश्नर से कहा कि डेयरी संचालन के लिए गोकुलधाम का निर्माण किया गया था। बावजूद इसके शहर में मवेशियों का डेरा रहता है। निगम प्रशासन स्पष्ट करे कि क्या गोकुलधाम को बसाया जाएगा या फिर मवेशी सड़कों पर ही घूमते मिलेंगे। रानू साहू ने बताया कि इस पर कार्य चल रहा है जल्द ही इसका नतीजा भी सामने आ जाएगा।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS