मेरा बिलासपुर

कांग्रेसियों ने की थानेदार को हटाने की मांंग…कहा…पुलिस की छवि को धक्का…पहले लाठीचार्ज फिर किया FIR

बिलासपुर— जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विजय केशरवानी की अगुवाई में कांग्रेस नेता दिलीप लहरिया, प्रदेश प्रवक्ता अभयनारायण राय और ग्रामीणों ने वरिष्ठ पुलिस कप्तान से हिन्दाडीह में चुनाव के दौरान लाठीचार्ज घटना को लेकर जांच की मांग की है। कांग्रेसियों ने पुलिस कप्तान से लिखित शिकायत कर कहा कि निर्दोष ग्रामीणों के खिलाफ झूठी शिकायत पर एफआईआर दर्ज किया गया है।

                           जिला कांग्रेस कमेटी विजय केशरवानी की अगुवाई में कांग्रेसियों ने वरिष्ठ पुलिस कप्तान से लिखित शिकायत कर हिन्दाडीह ग्रामीणों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने का विरोध किया है। कांग्रेसियों ने बताया कि मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र के बूथ क्रमांक 40 हिंदाडीह में टी.आई.सीपत ने मतदान के दिन लाठीचार्ज किया। टोकन हासिल कर चुके मतदाताओं को मत देने से भी रोका । निर्दोष ग्रामीणों पर लाठियां बरसाई गयी।

                                           प्रतिनिधिमंडल के साथ शिकायत करने पहुंचे ग्रामीणों ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से मामले में जांच किए जाने की मांग की।  प्रतिनिधि मण्डल ने सीपत टीआई के खिलाफ भी शिकायत दर्ज करायी। प्रतिनिधिमण्डल ने बताया कि सीपत थानेदार ने जानबूझकर माहौल खराब किया। भाजपा नेताओं के इशारे में ग्रामीणों के खिलाफ कार्यवाही को अंजाम दिया गया।

            कांग्रेसियों ने बताया कि जिस बूथ में घटना हुई वहां से कांग्रेस को हमेशा लीड मिलती है। शाम 5 बजे जो लोग मतदान स्थल के 100 मीटर के दायरे में थे उन्हें लाईन लगाकर टोकन बांटा गया। इस दौरान मतदान की कार्रवाई बिना किसी विवाद के चल रही थी।

डीजीपी का फरमान..जुर्माना वसूली बन्द..अन्यथा अधिकारियों पर होगी कार्रवाई..घूमन्तुओं पर रखें नजर

                     अचानक थानेदार ने गेट बंद कर दिया। लोगों को भगाया जाने लगा। इसके चलते अफरा-तफरा की स्थिति निर्मित हो गई। थानेदार ने ऊपर के अधिकारियों को बंधक बनाये जाने की झूठी खबर देकर लाठी चार्ज कर दिया। लाठीचार्ज से कांग्रेस समर्पित सैकड़ों कार्यकर्ता मतदान करने से वंचित हो गये।  घटना स्थल पर पहुंचे, तहसीलदार और एसडीएम को लिखित शिकायत की गयी। बावजूद इसके थानेदार ने एकपक्षीय कार्रवाई करते हुए कांग्रेस समर्पित लोगों पर एफआईआर दर्ज कर दिया।

                         पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने प्रतिनिधिमण्डल को आश्वासन दिया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मामले की जांच करेंगे। रिपोर्ट में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

    मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया, जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी ने कहा कि दोषी अधिकारी को जांच कर तत्काल हटाना जाए। लाठीचार्ज के बाद जनता में गहरी नाराजगी है। पुलिस की छवि खराब हुई है।

                                             पुलिस अधीक्षक से मुलाकात के दौरान कांग्रेस प्रतिनिधि मण्डल में विधायक दिलीप लहरिया, जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी, प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, राजेन्द्र धीवर, चित्रकांत श्रीवास, हरीशंकर बक्षी, अजय दास, रामजी बिझवार समेत ग्रामीण मौजूद थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS