कांग्रेसियों ने की पुनरीक्षण तारीख बढ़ाने की मांग…प्रतिनिधिमंडल ने कहा..इशारे पर हो रहा नाम जोड़ने घटाने का काम

बिलासपुर—मतदाता सूची की खामियों को देखते हुए कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने 21 अगस्त की जगह विषेष पुनरीक्षण की तारीख 10 सितंबर तक बढ़ाए जाने की मांग की है। जिला शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष तैय्यब हुसैन के संयुक्त नेतृत्व और प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव के साथ कांग्रेसियों का प्रतिनिधिमंडल ने  जिला निर्वाचन अधिकारी की अनुपस्थिति में अतिरिक्त जिलाधीष महेश उईके को लिखित मांग की है।
                अटल श्रीवास्तव,नरेन्द्र बोलर और तैयब हुसैन की अगुवाई में जिला कांग्रेस कमेटी ने विधानसभा चुनाव को लेकर चल रहे मतदाना सूची के विशेष पुनरीक्षण अभियान की तारीख को बढ़ाए जाने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं ने अतिरिक्त कलेक्टर से लिखित मांंग करते हुए पुनरीक्षण की तारीख 21 अगस्त से बढ़ाकर 10 सितंबर करने को कहा। ब्लाॅक अध्यक्ष तैय्यब हुसैन ने निर्वाचन अधिकारी को बताया 1 अगस्त से बी.एल.ओ. को मतदान केन्द्र में उपस्थित होने के घोषणा के बाद भी अधिकतर जगह अधिकारी नहीं बैठ रहे हैं। अधिकांश अधिकारियों के पास वोटर लिस्ट, फाॅर्म नं. 6, 7 व 8 नहीं है। रविवार और अन्य  अवकाश के दिनों में भी अधिकारी नहीं बैठ रहे हैं। जिससे पुनरीक्षण का काम 10 अगस्त से  प्रारंभ हुआ। आगे भी स्वतंत्रता दिवस समेत अन्य छुट्टियों के कारण पुनरीक्षण का काम प्रभावित होगा।
                                          कांग्रेस नेता ने कहा कि 39 हजार लोगों के नाम विलोपित कर दिये गये थे। कांग्रेस पार्टी की मांग है कि जांच के बाद नामों को जोड़ा जाए। कांग्रेसियों ने बताया कि  जिस वोटर लिस्ट पर पुनरीक्षिण का कार्य चल रहा है उसमें लगातार विसंगतियाँ सामने आ रही हैं। बीएलओ के सर्वे और जानकारी के बाद भी मृत व्यक्तियों और फर्जी मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से काटा नहीं गया है। कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के परिवार के सदस्यों को जानबूझकर अलग-अलग बूथों में रखा गया है। जबकि उनका पता एक ही मकान और गली में है। रामशरण यादव, प्रमोद नायक जैसे कई कांग्रेस नेताओं का नाम मदाता सूची से गायब है।
                      अटल श्रीवास्तव ने आरोप लगाया मतदाता सूची के कार्य में शामिल लोग किसी पार्टी विषेष के लिए कार्य कर रहे हैं। उनकी कार्य प्रणाली संदिग्ध हैं। नाम-जोड़ने काटने का कार्य बी.एल.ओ. के बजाय मंत्री के बंगले से हो रहा है। इसकी जांच जरूरी है। अटल ने कहा कि नाम जोड़ने एवं काटने सूची प्रत्येक दिन की सूची कांग्रेस कमेटी को दी जाये। प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभयनारायण राय, महामंत्री और शहर कांग्रेस प्रवक्ता ऋषि पाण्डेय, महामंत्री अरविंद शुक्ला, सचिव अमन मेमन, सुभाष ठाकुर मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *