कांग्रेस को देना होगा जनता का जवाब…22 मार्च से पदयात्रा…अध्यक्ष बताएंगे 3 साल से क्या कर रहे थे .

बिलासपुर—चुनाव नजदीक आते ही जिला कांग्रेस अध्यक्ष को जनता की याद सताने लगी है। यदि शहर अध्यक्ष का बस चलता तो पदयात्रा की औपचारिकता कांग्रेस कार्यालय में ही बैटकर पूरी कर लेते। जैसे बूथ संगठन चुनाव के दौरान उन्होेने कांग्रेस कार्यालय में बैठकर कर लिया था। शुक्र है जिला कांग्रेस कमेटी को अहसास हुआ कि बिलासपुर विधानसभा में कुल 58 वार्ड का भ्रमण करना है। शायद ऐसा कांग्रेस कार्यकर्ताओंके दबाव में किया गया हो।

                 एक नाखुश कांग्रेसी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि पिछले तीन सालों में जिला कांग्रेस अध्यक्ष की अगुवाई में 58 वार्डों में कोई कार्यक्रम या रैली का आयोजन नहीं किया गया। टीएस सिंहदेव के दो दिवसीय प्रवास का असर है कि नरेन्द्र बोलर और उनकी टीम ने भाजपा को जवाब देने के लिए 22 मार्च से पदयात्रा का एलान किया है। पदयात्रा के दौरान बिलासपुर वासियों को नरेन्द्र बोलर को जवाब देना होगा कि अध्यक्ष बनने के बाद साढ़े तीन साल कहां थे।चुनाव के समय ही हमें क्यों याद किया जाता है।

                      बहरहाल ज़िला शहर कांग्रेज़ कमेटी ने भाजपा के जवाब में निगम निगम बिलासपुर के 58 वार्डों में पदयात्रा का एलान किया है। 22 मार्च से होने वाली पदयात्रा की अगुवाई नरेन्द्र बोलर ही करेंगे। कांग्रेसियों की पदयात्रा 22 मार्च दोपहर 3 बजे गांधी चौक से वार्ड शुरू होगी। इसके पहले सभी कांग्रेसी गांधी चौक पर एकत्रित होकर महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने नतमस्तक होंगे। माल्यार्पण के बाद आशीर्वाद भी लेंगे।

                 गांधी जी से आशीर्वाद लेने के बाद सभी कांग्रेसी वार्ड 34 ,गांधी नगर से पदयात्रा प्रारम्भ कर वार्ड 29 सन्त रविदास नगर पहुंचेंगे। भाषणवाजी के बाद पहले दिन की पदयात्रा का समापन होगा । पदयात्रा में कांग्रेस पार्टी के सभी संगठनों के पदाधिकारी और शामिल होंगे।

                       प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव,शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर,ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन ने बताया कि कांग्रेस की रीति नीति,सिद्धांतो को लेकर वार्डो में पदभ्रमण किया जाएगा। कांग्रेस के शासनकाल में किसान,मजदूर,छोटे व्यवसायियो के हित संरक्षण  में किये गए कार्य और प्रस्तावित लोक हित की योजनाएं के बारे में जनता को जानकारी दी जाएगी।

पार्टी को हुआ नुकसान

                      टीएस सिंहदेव के दो दिवसीय बिलासपुर प्रवास और डांट फटकार के बाद नाम नहीं छापने की सूरत में कांग्रेसी ने बताया कि पिछले तीन सालों में कमजोर नेतृत्व ने शहर की जनता पर पकड़ को ठीला किया है।पिछले तीन सालों में जिला अध्यक्ष ने रणनीतियां तो बनाई लेकिन किसी पर अमल नहीं किया। जिसके कारण भाजपा के बराबर कांग्रेस के प्रति भी जनता में आक्रोश है।
                              कांग्रेस नेता ने बताया कि पिछले तीन सालों में बहुत कुछ किया जा सकता था। लेकिन कुछ भी नहीं किया गया। जब भी बड़े नेता बिलासपुर आए कांग्रेसियों की भीड़ इकठ्ठी हो गयी। फिर सभी लोग नदारद हो गए। निगम चुनाव में 66 कांग्रेसियों ने चुनाव लड़ा..बड़े नेताओं की अगवानी को छोड़कर अन्य किसी कार्यक्रम में 66 लोग दिखाई नहीं दिये। बूथ स्तर पर संगठन चुनाव तीन चार वार्डों को छोड़कर किसी भी वार्ड में जिला अध्यक्ष नहीं गए। जिसके कारण जनता में भाजपा के बराबर कांग्रेस के प्रति भी आक्रोश है।
हाथ से निकल गया रेलवे का वार्ड
        नाखुश नेता ने बताया कि यदि पदयात्रा को सफलता मिलती भी है तो इसकी वजह कांग्रेसी नहीं बल्कि सरकार और स्थानीय जनप्रतिनिधि के प्रति आक्रोश हो सकता है।लेकिन इसकी संभावना बहुत कम है। क्योंकि वार्ड कार्यकर्ता जिला संगठन पदाधिकारियों से खासे नाराज हैं। रेलवे वार्ड पूरी तरह से कांग्रेस के हाथ से निकल चुका है। मौका था संगठन खड़ा कर कांग्रेस को स्थापित करने का..लेकिन अध्यक्ष की लापरवाही से कुछ संभव नहीं हो पाया। बेशक जनता के प्रति शहर वासियों में आक्रोश है। लेकिन जनता में कांग्रेस के प्रति भी नाराजगी भी कम नहीं है।  पदयात्रा के दौरान कांग्रेस नेताओं को लोगों के सवालों के लिए तैयार रहना होगा।
दो दिन पदयात्रा स्थगित
     पार्ी कार्यालय से जारी प्रेस नोट के अनुसार 23 मार्च को कांग्रेस की पदयात्रा वार्ड क्रमांक 35 इंदिरा नगर, 36 तात्या टोपे नगर ,  37 रामदास नगर में निकलेगी। 24 मार्च को सभी कांग्रेसी र्ड32 बसन्त भाई पटेल नगर, वार्ड 33 शहीद राम प्रसाद बिस्मिल नगर का भ्रमण करेंगे। 27 मार्च को वार्ड 13 अम्बेडकर, वार्ड14 क्रांति भारती नगर,वार्ड 15 ,महारानी लक्ष्मी बाई नगर की पदयात्रा करेंगे। 28 मार्च को वार्ड 19 संजय गांधी नगर ,वार्ड20 प्रियदर्शनिनगर में पदयात्रा के दौरान जनता से रूबरू होंगे। 25  और  26 मार्च को अष्टमी और नवमी के कारण पदयात्रा स्थगित रहेग ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *