कांग्रेस ने अपनी चुनावी दुकान क्यों समेटी…….. ? भाजपा ने ली चुटकी……राहुल के दंभ का छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने निकाला दम

gujrat, election, 2017, bjpरायपुर। प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस द्वारा अपने प्रत्याशियों की सूची घोषित करने की रणनीति बदलने पर कटाक्ष कर कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अगस्त में यह सूची घोषित करने की बात कही थी पर अब हालात ये हैं कि बड़ा शोर सुनते थे पहलू में दिल का, जो चीरा तो कतरा-ए-खूं भी न निकला।
प्रदेश भाजपा  प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने सोमवार को कहा कि अगस्त में प्रत्याशी घोषित कर देने के राहुल गांधी के दंभ का दम तो प्रदेश कांग्रेस ने निकाल दिया। आपसी कलह और सत्ता की भूख ने कांग्रेस नेतृत्व को दुविधा में डाल  दिया है। कांग्रेस अब भी  टिकट-वितरण के अपने पुराने तौर-तरीकों से मुक्त नहीं हो पा रही है और आखिरी वक्त तक उसके नेता प्रत्याशियों के नाम तय करते और  बदलते ही नजर आएंगे। संचार क्रान्ति के इस युग में भी पुरानी परंपरा को ढो रही कांग्रेस आधुनिक विकास की संभावनाओं से अभी भी दूर है। श्री उपासने ने कांग्रेस की प्रत्याशी चयन प्रक्रिया को ड्रामेबाजी बताते हुए कहा कि कांग्रेस ने रणनीति बदलकर साबित कर दिया कि एक तो वह भाजपा से डरी-सहमी है और दूसरे, उसे अपने प्रत्याशियों व कार्यकर्ताओं पर भरोसा नहीं है। स्वयं कांग्रेस के नेता भीतरघात और नाराजगी की बात स्वीकार कर रहे हैं। यह बात 332 लोगों की प्रदेश कार्यसमिति की घोषणा के बाद उभरे असंतोष ने भी सिद्ध कर दी है। कांग्रेस का यह राजनीतिक चरित्र पद व सत्ता की भूख को रेखांकित करता है।
प्रदेश भाजपा प्रवक्ता श्री उपासने ने भाजपा की सूची के बाद अपने प्रत्याशी घोषित करने के कांग्रेसी एलान पर भी कटाक्ष किया कि अखबारी सुर्खियों व चर्चा में बने रहने के लिए ही राहुल गांधी ने अगस्त में प्रत्याशी घोषित करने की बात कही थी, लेकिन अब उन्हें समझ आ गया है कि यहां कांग्रेस की राजनीतिक जमीन पूरी तरह खोखली है। अब कांग्रेस नेता चुनाव आयोग द्वारा चुनाव कार्यक्रमों की घोषणा का इंतजार इस तरह कर रहे हैं, मानो कांग्रेस की सूची चुनाव आयोग फाइनल करेगा। कांगे्रस नेताओं द्वारा यह कहे जाने पर कि पहले उसके प्रत्याशी चयन का फायदा भाजपा उठा लेती है, श्री  उपासने ने चुटकी ली कि क्या कांग्रेस अध्यक्ष को यह बात पहले पता नहीं थी? भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा को कांग्रेस प्रत्याशियों की घोषणा से कोई सरोकार नहीं है। हमारी पार्टी तो अपने कार्यकर्ताओं  के बल पर चुनावी मैदान में उतरती है और जनादेश का पूरा सम्मान करती है। भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए सभी क्षेत्र में एक ही प्रत्याशी होता है और वह है कमल का फूल। पार्टी कार्यकर्ता  इसी भाव के साथ इस बार भी भाजपा की चौथी बार सरकार  बनाने  दृढ़-संकल्पित हैं जबकि कांग्रेस की चुनावी प्रक्रिया शुरू से कार्यकर्ताओं को गुमराह करने वाली रही है। टिकट-आवेदन के बहाने कांग्रेसियों को सक्रिय करने के फेर में जैसा उपद्रवी-नजारा कांग्रेस में दिखा, उसे देखकर ही कांग्रेस ने चुनावी टिकट की दुकान समेट ली है।
पूर्व सांसद मोहन भैया को भाजपा द्वारा श्रद्धांजलि 
  दुर्ग के पूर्व सांसद मोहन लाल जैन (मोहन भैया) के निधन पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि मोहन भैया सच्चे  जनसेवक थे। उन्होंने  दुर्ग के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया। ईश्वर उनकी आत्मा को  शांति प्रदान करें। उल्लेखनीय है कि 84 वर्षीय मोहन भैया काफी समय से अस्वस्थ्य थे। मोहन भैया ने वर्ष 1977 से 1980  तक दुर्ग संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। वे आजीवन जनसेवा में जुटे रहे। मोहन भैया का व्यक्तित्व ऐसा था कि उन्हें  समस्या बताने की जरूरत नहीं पड़ती थी वे स्वयं समस्या तक पहुंचकर उसके समाधान हेतु संघर्ष करने में विश्वास रखते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *