कांग्रेस ने किया एसीबी का घेराव..कमीशनखोरी के खिलाफ लगाया नारा

IMG20170515140133बिलासपुर—सोमवार को कांग्रेसियों का पारा सूरज के पारा से अधिक नजर आया। चिलचिलाती धूप का परवाह किए बिना कांग्रेसियों ने खड़ी दोपहर में राजस्व मंडल बोर्ड कार्यालय परिसर स्थित एसीबी कार्यालय का घेराव किया। एसीबी प्रमुख से लिखित शिकायत कर सीवरेज और गौरवपथ में दोषी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की। एसीबी कार्यालय पहुंचने की जानकारी मिलते ही सिविल लाइन पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए।

                     एसीबी कार्यालय पहुंचकर कांग्रेसियों ने सिवरेज और गौरव पथ में भ्रष्टाचार करने वालों के खिलाफ लिखित शिकायत की। इस दौरान कांग्रेसियों ने अधिकारियों का घेराव करते हुए भ्रष्टाचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने को कहा । इस दौरान कांग्रेसियों ने प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

                    पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने बताया कि भूपेश बघेल की लोकप्रियता से सरकार परेशान है। भूपेश बघेल ने  सरकार की भ्रष्टाचार की कहानी को जन जन तक पहुंचा दिया है। जिसके चलते मंत्री से लेकर संत्री तक सभी लोग परेशान हैं। जब से भूपेश ने कमीशनखोरी को मुद्दा बनाया है। सरकार बैकफुट पर है। बघेल परिवार को झुकाने के लिए सरकार ने ईओडब्ल्यू का सहारा लिया । लेकिन भूपेश डिगने वाले नेताओं में नहीं हैं।

                                          जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण राजेन्द्र शुक्ला और विधायक दिलीप लहरिया ने कहा कि सिवरेज में भ्रष्टाचार से शहर की जनता परेशान है। गौरवपथ मामले में हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं किया गया है। इसलिए जानना जरूरी है कि इसके पीछे कौन है।

                         नरेन्द्र बोलर,चन्द्रप्रकाश वाजपेयी,शैलेन्द्र जायसवाल ने भी सिवरेज में कमीशन करने का आरोप लगाया। अभय नारायण राय और विधायक दिलीप लहरिया ने कहा कि कांग्रेस नेता ने जब कमीशनखोरी को मुद्दा बनाया तो सरकार बेचैन हो गयी है। गौरवपथ में कमीशनखोरी के चलते करोड़ों का नुकसान हुआ है। कोर्ट के निर्देश के बाद भी भ्रष्टाचारियों के खिलाफ एफआईआर अभी तक दर्ज नहीं किया गया है। जसबीर गुम्बर ने कहा कि सिवरेज और गौरवपथ में कमीशनखोरों का खुलासा होना जरूरी है।

                            कांग्रेसियों ने एसीबी एसपी एस.पी करोसिया से एफआईआर दर्ज कर जांच के बाद निर्माण कार्य में दोषी और कमीशनखोर मंत्री अधिकारियों के नाम उजागर करने को कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *