कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल…कहा भाजपाइयों को मारो सिर पर बोतल…जनता कांग्रेस का बयान…क्यों नहीं करवा रहे FIR

बिलासपुर— एक बार फिर कांग्रेस नेता और तानाखार विधायक रामदयाल उइके के बोल बिगड़ गए हैं। एक कार्यक्रम में अपने भड़काउ बयान में कहा कि भाजपा के लोग जब वोट माँगने आएं शराब की बोतल से मारें। अपने घर में झंडा से बड़ा डंडा रखें। डंडा का उपयोग मारपीट में करना है। तानाखार विधायक ने यह बात रविवार संकल्प शिविर के भैसमा गांव में भाषण के दौरान कही।

कांग्रेस के भैंसमा संकल्प शिविर में विधायक तानाखार के बोल फिर बिगड़ गए। उन्होने संकल्प यात्रा कार्यक्रम के दौरान भडकाऊ बयान दिया है। मालूम हो कि प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके ने पिछली बार भी चुनाव में लाठी डंडे के इस्तेमाल पर बयान दिया था। एक बार फिर भैंसमा में प्रदेश सरकार के खिलाफ कार्यकर्ताओं के सामने भड़काऊ बयान दिया है.

             कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उइके ने कहा कि चुनाव नजदीक है। शराब के बोतल से भाजपा के प्रत्याशियों को मारना है। झंडे से बड़ा डंडा रखना है। इसका उपयोग भी उपयोग चुनाव में करना है। उइके के बयान के बाद एक बार फिर कांग्रेस के लिए असहज सी स्थिति पैदा हो गयी है।

                                  समझने वाली बात है कि पाली तानाखार के मौजूदा विधायक कई मौकों पर भाजपा का मुकाबला हिंसक तरीके से करने की बात कह चुके हैं। अपने चिर परिचित अंदाज में इस बार भी भैसमा में भरे मंच से राष्ट्रीय नेताओं के सामने भड़काऊ बयान दिया है। रामदयाल उइके प्रदेश में शराब की सरकारी बिक्री के संबंध में आमसभा को संबोधित कर रहे थे.

                   उन्होने कहा कि अगर भाजपा के लोग वोट मांगने आये तो घर पर रखे बोतल से उन्हें मारना है। हमें झंडे से बड़ा डंडा रखना होगा. जिसका इस्तेमाल चुनाव में करना है।

              जनता कांग्रेस नेताओं ने प्रदेश कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष के बयान की निंदा की है । प्रदेश प्रवक्ता मनीशंकर पान्डेय ने बताया कि भड़काऊ बयान देने वाले विधायक के खिलाफ तत्काल कानूनी कार्यवाही की जाए। अपने भाषण में विधायक ने जनता को हिंसा करने और कानून को हाथ में लेकर मारपीट करने के लिए उकसाया है। क्या कांग्रेसी अपने विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कराने जायेगें । जबकि एक दिन पहले बिलासपुर एसपी से  कांग्रेसियों ने जनता कांग्रेस जिला प्रवक्ता के खिलाफ कार्यवाही और एफआईआर दर्ज करने का दबाव बना रहे थे। क्या रामदयाल उइके के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने का पुलिस पर दबाव बनाएंगे।

                                                        जनता कांग्रेस नेता ने कहा कि जिलाधीश ने राहुल गांधी के कार्यक्रम की अनुमति दी है। इसलिए कांग्रेसियों को सुरक्षा का ध्यान देना चाहिए। जो स्टेडियम अभी निर्माणाधीन हो जिसका विधिवत उद्घाटन भी नहीं हुआ है।  इतने बडे व्ही आई पी नेता जिसे अति विशिष्ट सुरक्षा हासिल है। जो 2019 का भावी प्रधानमंत्री है। सरक्षा को ताक पर रखकर निर्माणाधीन स्टेडियम में कार्यक्रम कराया जाना उचित नहीं है।

                    इस बात को लेकर एक दिन पहले कांग्रेसी नेताओं ने जिला कांग्रेस प्रवक्ता पर एफआईआर और गिरफ्तारी का पुलिस पर दबाव बनाया गया। समझने वाली बात है कि आज कांग्रेस विधायक जनता को हिंसा करने का पाठ पडा रहे है। क्या कांग्रेसी उइके के खिलाफ एफआईआर और गिरफ्तारी की मांग नहीं करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *