कार्यालयों में पढ़ी जाएगी संविधान की प्रस्तावना…छात्रों के बीच होगी प्रतिय़ोगिता…प्रशासन का आदेश

बिलासपुर— शासकीय कार्यालयों में 26 नवंबर को संविधान की प्रस्तान पढ़ी जायेगी। भारत सरकार के आदेश के अनुसार 26 नवंबर 2018 को संपूर्ण भारत में संविधान दिवस के रूप में मनाया जायेगा। इस दौरान सरकारी कार्यालयों और स्कूल कालेजों में संविधान की प्रस्तावना को पढ़ने के साथ विभिन्न प्रकार की प्रतियोगितों का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान आदर्श आचार संहिता का भी विशेष ध्यान रखा जाएगा।
                                   जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार भारत सरकार के निर्दश पर प्रदेश के साथ जिले में 26 नवम्बर को संविधान दिवस मनाया जाएगा। इस दौरान विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम का आयोजन आदर्श आचार संहिता को ध्यान में रखकर किया जाएगा।
                  जिला प्रशासन के अनुसार प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थाओं के साथ जिले में भी  सभी शासकीय कार्यालयों में भारतीय संविधान के प्रस्तावना को पढ़ा जायेगा। आदर्श आचरण संहिता को ध्यान में रखते हुए शैक्षणिक संस्थाओं, महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों के छात्रों के बीच संविधान के प्रति जागरूकता के लिये प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। छात्र छात्राओं के बीच निबंध लेखन, वाद-विवाद प्रतियोगिता के अलावा व्याख्यान का आयोजन किया जाएगा।
               इस दौरान संवैधानिक प्रावधानों को लेकर प्रश्नोत्तरी कार्याक्रम का भी आयोजन होगा। मालूम होकि भारत सरकार ने डाॅ. बी.आर अम्बेडकर की 125वीं जयंती के अवसर पर संविधान दिवस मनाए जाने का निर्णय लिया है। डाॅ. अम्बेडकर भारतीय संविधान के प्रारूप निर्माण समिति के अध्यक्ष थे। भारतीय संविधान को 26 नवंबर 1949 को अंगीकृत किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *