किसने लाया प्रदेश सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव

IMG-20170515-WA0497बिलासपुर—शहर कांग्रेस ने एक बैठक में प्रदेश सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया है।  बैठक में सीवरेज की कार्यप्रणाली, गौरवपथ में भ्रष्टाचार, उच्च न्यायालय के निर्देश के बाद भी अपराध दर्ज नहीं किए जाने के अलावा धरना प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ झूठे मुकदमा दर्ज किये जाने की कार्रवाई पर चर्चा हुई। सभी कांग्रेसियों ने बैठक में सरकार के खिलाफ जमकर आक्रोश जाहिर किया है।

                         जिला कांग्रेस कांग्रेस भवन कार्यालय में स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने बैठक कर डॉ.रमन सिंह के सरकार के खिलाफ एक मत निंदा प्रस्ताव पारित किया है।कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा शासन में लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। विपक्षी पार्टी के नेताओं पर झूठे मुकदमें दर्ज किए जा रहे हैं। पुलिस तंत्र के सहारे भ्रष्टाचार के खिलाफ उठने वाली आवाज को दबाया जा रहा है। कांग्रेसियों ने कहा कि सिवरेज की कार्यप्रणाली, गौरवपथ में भ्रष्टाचार मामले को हाईकोर्ट के दखल और निर्देश के बाद भी दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं किया जा रहा है।

                               कांग्रेस नेताओं ने कहा कि राज्य और जिला प्रशासन ने कांग्रेसियों को लगातार निशाना बनाया है। ग्राम सुराज का विरोध करने, नेहरू चौक पर धरना प्रदर्शन करने, मंत्री और मुख्यमंत्री का विरोध करने पर पुलिसिया कार्यवाही की जाती है। झूठे मुकदमें दर्ज किए जाते हैं।

                कांग्रेस नेताओं ने प्रस्ताव पारित करने के दौरान कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल पर झूठे मामले बनाकर 22 साल पुराने प्रकरण को अनायाश उछाला जा रहा है। बघेल के परिवार पर अपराध दर्ज करने की बात कही जा रही है। प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, पार्षद दल नेता शेख नजीरूद्दीन,निगम पार्षद दल प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल, प्रदेश सचिव महेश दुबे, वरिष्ठ कांग्रेस नेता जसबीर गुम्बर, कार्यकारिणी सदस्य शेख गफ्फार, पूर्व महापौर राजेश पाण्डेय, संभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय,विधानसभा प्रत्याशी भुवनेश्वर यादव, जिला पंचायत सदस्य रमेश कौशिक, ब्लाक अध्यक्ष विनोद साहू, कार्यकारी ब्लाक अध्यक्ष अरविन्द शुक्ला, महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सीमा पाण्डेय, युवा कांग्रेस अध्यक्ष भावेन्द्र गंगोत्री, प्रदेश सचिव जावेद मेमन ने बारी -बारी से अपने विचार रखे। सभी ने सीवरेज के खिलाफ जन आन्दोलन छेड़ने तथा सीवरेज के भ्रष्टाचार को लेकर यू.ओ.डब्ल्यू का घेराव कर अपराध दर्ज करने का प्रस्ताव रखा। इस दौरान 3 दिवसीय सीवरेज मुक्ति यात्रा 17 मई से निकालने का फैसला किया गया।

                       बैठके में पूर्व शहर अध्यक्ष विजय पाण्डेय ने भूपेश बघेल पर राजनीतिक बदले की भावना से आर्थिक अपराध अन्वेशण विभाग में जुर्म दर्ज किए जाने का निन्दा प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *