किसानों के हित में CM डॉ रमन की बड़ी घोषणा-इस बार प्रदेश के किसानों को रबी फसलों के लिए भी मिलेगा पानी

अटल स्मारक,स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी,मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह,अटल नगर (नया रायपुर),रायपुर-मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस बार मानसून की अच्छी बारिश के फलस्वरूप सिंचाई बांधों में पर्याप्त जल भण्डारण को देखते हुए राज्य के किसानों को रबी फसलों के लिए भी पानी देने की घोषणा की है। छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपैक्स बैंक) के अध्यक्ष अशोक बजाज ने मुख्यमंत्री की इस घोषणा का स्वागत करते हुए किसानों की ओर से उनके प्रति आभार प्रकट किया है। श्री बजाज ने बताया कि मुख्यमंत्री ने अटल नगर में अपैक्स बैंक के नवनिर्मित प्रधान कार्यालय भवन (दीनदयाल सहकार भवन) के लोकार्पण समारोह में आयोजित सहाकारिता सम्मेलन में यह घोषणा की।उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने आठ करोड़ 50 लाख रूपए की लागत से 40 हजार वर्गफीट में निर्मित अपैक्स बैंक के नये भवन के लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि की आसंदी से किसानों के सहकारिता सम्मेलन को भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर उन्हें क्षेत्र के ग्रामीणों ने नया रायपुर में अटल स्मारक निर्माण के लिए अपने-अपने गांव से लाई गई पवित्र माटी भी सौंपी। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में महिला सशक्तिकरण की दृष्टि से दस महिलाओं को स्वरोजगार के लिए ई-रिक्शा भेंट कर शुभकामनाएं दी। डॉ. रमन सिंह ने सम्मेलन में कहा कि छत्तीसगढ़ में सहकारिता और अधिक सुदृढ़ एवं समृध्द हुआ है।

किसानों को खेती के लिए ऋण सुविधा मुख्यरूप से सहकारी बैंकों के जरिए दी जाती है। छत्तीसगढ़ में किसानों को ब्याजमुक्त कृषि ऋण दिया जा रहा है। राज्य के दुर्गम क्षेत्रों के महिला हितग्राहियों को सहकारिता के माध्यम से रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किया गया है। इस वर्ष धान की अच्छी पैदावार की संभावना को देखते हुए लगभग 12 हजार करोड़ रूपये की धान खरीदी एवं 2400 करोड़ रूपये के धान बोनस का भुगतान सहकारिता के माध्यम से किसानों को किया जाएगा।

अपेक्स बैंक के अध्यक्ष अशोक बजाज ने छत्तीसगढ़ में सहकारिता आंदोलन की प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशों के अनुरूप विगत खरीफ विपणन वर्ष 2017-18 में 56.88 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी की गई जिसकी बोनस की राशि 1705 करोड़ रूपए 12 लाख से ज्यादा किसानों के खातों में ऑनलाईन जमा की गई। वर्तमान खरीफ विपणन वर्ष 2018 में सहकारी समितियों के माध्यम से नौ लाख 95 हजार किसानों को तीन हजार 130 करोड़ कृषि ऋण दिया गया है। आगामी रबी सीजन के लिए 600 करोड़ का कृषि ऋण बांटने का लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *