मेरा बिलासपुर

किसान के खाते से 5 लाख 56 हजार पार..जिला सहकारी बैंक का मामला..5 बूथ से रूपी कार्ड से निकाले गए रूपए.. पुलिस के हाथ लगा सीसीटीवी फुटेज

बिलासपुर—-सकरी के एक किसान के लोन खाते से अज्ञात आरोपी ने 5 लाख 56 हजार रूपए पार कर दिया है। मामले की जानकारी किसान को चेक बाउन्स के बाद हुई। जानकारी के बाद किसान के होश उ़़ड़ गए। बैंकर ने किसान को बताया कि खाते में रूपए ही नहीं है। शिकायत के बाद मामला सिविल लाइन थाने में दर्ज कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि आरोपी के गिरेबान तक पुलिस पहुंच गयी है।

5 लाक 56 हजार पार

                       सकरी का किसान रामकुमार कौशिक खेती के अलावा  कपड़ा दुकान का संचालन करता है। पांच जून को जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक रूपया निकालने पहुंचा। खेती किसानी और अन्य काम के लिए चेक जमा कर रूपए की मांग की। बताते चलें कि जिला सहकारी बैंक का लोन शाखा ग्राउण्ड में है। यही से सभी किसानों का लोन स्वीकृत किया होता है।  पहले की तरह रामकुमार कौशिक भी भारी भरकम राशि भरकर चेक बैंक में जमा किया। पर्याप्त रूपए नहीं होने के कारण चेक बाउन्स हो गया। प्रबंधक ने बताया कि खाते में रूपए नहीं है। सुनकर किसान दंग हो गया। बताया कि उसके खाते में करीब 5 लाख 76 हजार रूपए जमा है।

                बैंक प्रबंधन से जानकारी  के बाद रामकुमार सिविल लाइन थाना पहुंचकर शिकायत की। पुलिस की जांच पड़ताल अब अंतिम चरण में है। बताया जा रहा है कि आरोपी के गिरेबान तक पुलिस का हांथ पहुंच चुका है।  

लोन खाते के लिए बनाया गया रूपी कार्ड

                        जिला सहकारी बैंक से मिली जानकारी के अनुसार साल 2016 में बैंक के सभी खाताधारकों को एक साथ रूपी कार्ड यानि एटीएम कार्ड वितरित किया गया। कुछ लोग अपना रूपी कार्ड ले गए। लेकिन कुछ लोगों का बैंक में ही रह गया। शायद इसमें से रामकुमार का रूपी कार्ड किसी के हाथ लग दया । अज्ञात आरोपी ने रामकुमार कौशिक के लोन अकाउन्ट से सारा लोन पार कर दिया। 

सभापति ने कहा..समय ही नहीं गुणवत्ता का भी रखें ध्यान..8 लाख की लागत से बनेगी नाली..विधि विधान से किया भूमि पूजन

नहीं मांगा था एटीएम कार्ड

                                चेक बाउन्स के बाद लोन बैंक प्रबंधक ने किसान के अलावा पुलिस को बताया कि रूपए रूपी कार्ड से निकाले गए है। रामकुमार ने जानकारी दी कि उसने एटीएम कार्ड के लिए आवेदन ही नहीं किया था। फिर एटीएम कार्ड से रूपया निकालने का सवाल ही नहीं होता है। छानबीन के दौरान बात सामने आयी कि रामकुमार का एटीएम कार्ड बना तो जरूर..लेकिन उसने रूपी कार्ड के लिए आवेदन नहीं किया था। किसी ने बैंक से एटीएम कार्ड पार कर रामकुमार कौशिक के खाते को साफ किया है।

बैंक ने दी पुलिस को जानकारी

                  जानकारी के बाद पुलिस जांच पड़ताल में बात सामने आयी कि रामकुमार कौशिक के खाते से पांच अलग अलग एटीएम बूथ से कुल 5 लाख 56  हजार रूपए निकाले गए है। सभी  रूपए 16 अप्रैल 2020 से 16 मई 2020 के बीच लाकडाउन के दौरान आहरण हुए हैं। 

पांच बूथ से निकाला गया पांच लाख 56 हजार..फुटेज बरामद

                             पुलिस ने बैंक से मिले रिकार्ड के आधार पर कलेक्टर शाखा एसबीआई एटीएम बूथ, वाजपेयी टावर स्थित एसबीआई एटीएम बूथ, जरहभाठा एसबीआई बूथ, अपना बाजार एटीएम बूथ के अलावा जिला सहकारी केद्रीय बैंक परिसर स्थित एटीएम बूथ से फुटेज को खंगाला। फुटेज में एक व्यक्ति मुंह और सिर को गमछा से ठककर रूपया निकाला है। पुलिस का दावा है कि आरोपी को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

36 सिटी मॉल का कब्जा मिलने के बाद बैंक वालों का यू-टर्न,तालेबंदी पर अड़े,लेकर आए थे दो बैग ताला

घर का भेदी..पुलिस को शक

                    सूत्रों की माने तो आरोपी बैंक का ही कोई कर्मचारी होने इंकार नहीं किया जा सकता है। क्योंकि बैंक को ही पता है कि रामकुमार कौशिक एटीएम नहीं ले गया है। और उसने एटीएम कार्ड की चोरी कर लोन का सारा रकम एक महीने के अन्दर पार कर दिया है। 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS