मेरा बिलासपुर

किसी ब्लाक को तो बनाओ राजस्व विवाद मुक्त…बोरा

sambhagayukat shri bora dwara collector confrensh (3)बिलासपुर—जिले में कम से कम एक विकासखण्ड को आगामी 31 मार्च तक राजस्व विवाद मुक्त बनाएं। राजस्व प्रशासन को मजबूत बनाने के लिए कुछ काम करें। काम के प्रति हमेशा जोश में रहने वाले  सोनमणि बोरा ने आज ये बातें कलेक्टर कान्फ्रेंस में कही।

              काम काज को लेकर हमेशा संजीदा नजर आने वाले  संभागायुक्त बोरा ने सूखा तथा फसल की स्थिति की समीक्षा करते हुए संभाग के सभी जिला कलेक्टरों से कहा कि वे अपने जिलों में राजस्व एवं कृषि से संबंधित अधिकारियों की संयुक्त बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दें। फसल कटाई और धान खरीदी की व्यवस्था में पूरी पारदर्शिता रखें। इसी तरह मुआवजा वितरण के समय भी पारदर्शिता के साथ कार्यवाही की जाये। उन्होंने भू-अभिलेखों का कम्प्यूटरीकरण और अद्यतीकरण के संबंध में कहा कि जिले में जहां लोक सेवा केन्द्र खुलना बाकी है। उसके लिए तत्काल प्रस्ताव भेजें।

               बोरा ने नजूल और डायवर्सन के प्रकरणों को भी समयबद्ध कार्यक्रम के अनुसार निपटाने का  निर्देश दिया। डायवर्सन प्रकरणों के निराकरण के संबंध में उन्होंने कहा कि इसमें काम कर रहे सभी प्रशिक्षण दिया जायेगा। नोडल अधिकारी कलेक्टर बिलासपुर होंगे।

                         बोरा ने राजस्व विवाद मुक्त ग्राम बनाने के संबंध में भी आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि राजस्व प्रकरणों का समय पर निपटारा होना चाहिए। जिसकी समीक्षा कलेक्टर करें। वन अधिकार मान्यता प्राप्त प्रकरणों की समीक्षा के दौरान संभागायुक्त ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा, पहाड़ी कोरवा लोगों के प्रकरण यदि निरस्त हो गये हो तो फिर से समीक्षा करने को कहा।

                               काम काज के प्रति हमेशा संजीदा रहने वाले वोरा ने कहा कि  कलेक्टर कम से अपने जिले का एक विकासखण्ड को तो राजस्व मुक्त बनाए। उन्होंने न्यायालय में राजस्व प्रकरणों के निराकरण के संबंध में भी आवश्यक निर्देश दिए। शासकीय भूमि पर किये गये अतिक्रमण को हटाने, बसाहटी ग्रामों का सर्वेंक्षण, राजस्व प्रकरणों का आनलाईन पंजीयन, मुख्यमंत्री की घोषणाओं का क्रियान्वयन, निराकृत राजस्व प्रकरणों को रिकार्ड रूम में भेजने, नक्शा नवीनीकरण कार्य, भुईयां कार्यक्रम और अन्य विभिन्न राजस्व प्रकरणों को समय पर निपटारा करने के निर्देश दिए।

धान मिलिंग से मना किया तो एफआईआर-कलेक्टर

                       बैठक में बिलासपुर कलेक्टर  अन्बलगन पी., रायगढ़ कलेक्टर अलरमेल मंगई डी, जांजगीर कलेक्टर ओ.पी. चैधरी, मुंगेली कलेक्टर डॉ संजय अलंग, कोरबा कलेक्टर पी.दयानंद, डिप्टी कमिश्नर  पी.डी. झा, संतन देवी जांगड़े और संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS