कृषि विधेयक के खिलाफ कांग्रेस की पदयात्रा..ब्लाक स्तर तक होगा प्रदर्शन..नेताओं को दी गयी जिम्मेदारी

बिलासपुर—–अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी  के सभी ब्लाकों में ‘‘किसान मजदूर बचाओ दिवस और पद यात्रा’’ का आयोजन किया जाएगा। पदयात्रा का आयोजन 02 अक्टूबर महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर किया जाएगा। इस दौरान केन्द्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन भी किया जाएगा।
 
           कांग्रेस नेताओं ने बताया कि केन्द्र सरकार की किसान विरोधी काले कानून के खिलाफ देशव्यापी एक दिवसीय ‘‘किसान मजदूर बचाओ दिवस एवं पद यात्रा’’ का आयोजन किया जाएगा। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष और खनिज विकास निगम अध्यक्ष गिरीश देवांगन जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी, विधायक रश्मि सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान के साथ तखतपुर और कोटा ब्लाॅक में आयोजित आंदोलन कार्यक्रम में शामिल होंगे। जिला कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि आंदोलन की तैयारियों को लेकर जिले के सभी ब्लाॅकों में प्रभारी नियुक्त कर दिए गए हैं। 
 
            जिला कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि केन्द्र सरकार के नया कृषि कानून किसान, मजदूर, विरोधी है। यह कानून चंद पूंजीपतियों और माफियाओं की सहूलियत के लिए बनाया गया है। कानून के विरोध में कांग्रेस देश भर में धरना प्रदर्शन और  पद यात्रा करेगी।
 
                  इसी कड़ी में जिले के सभी ब्लाॅकों में भी धरना प्रदर्शन और पद यात्रा का यआयोजन किया जाएगा। राष्टपति के नाम का ज्ञापन दिया जाएगा। जिला कांग्रेस के महामंत्री और प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान ने बताया कि सभी ब्लाॅकों के लिए प्रभारी नियुक्त कर दिए गए हैं। काले कृषि कानून के खिलाफ चलाए जा रहे आंदोलन और गतिविधियों के लिए प्रभारी के रूप में कार्य करते रहेेगें।
कहां कौन संभालेंगा जिम्मेदारी
                  बिल्हा ब्लाॅक के लिए अनिल सिंह चौहान और संदीप वाजपेयी, मस्तूरी में मो. जस्सास, गौरव अग्रवाल, बेलगहना में नीरज जायसवाल, विनय शुक्ला, बेलतरा में  अभिषेक सिंह राजकुमार तिवारी, सीपत में ब्रह्मदेव सिंह, सुजीत मिश्रा, रतनपुर में  पप्पू साहू, श्याम कश्यप, तिफरा नाजिम खान, शेख निजामुद्दीन (दुलारे), सकरी में मनहरण कौशिक, रोमहर्ष शर्मा, कोटा और तखतपुर ब्लाॅक में जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी के साथ आशीष शर्मा, जितेन्द्र पांडेय, आत्मजीत सिंह मक्कड़ ब्लाॅक प्रभारी के रूप में शामिल रहेगें। 
 
मिट जाएगा किसानों का नाम..रह जाएंगे मजदूर और कामगार    
                         
                  ज़िला शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रमोद नायक ने बताया कि 2 अक्टूबर को सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक गांधी की प्रतिमा के सामने एक दिवसीय धरना -प्रदर्शन किया जाएगा। केंद्र की मोदी सरकार ने तीन कृषि बिल पारित कर देश के अन्नदाताओं को समाप्त करने की साजिश की है। इस कानून से जमाखोरी,कालाबाज़ारी को बढ़ावा मिलेगा। इसका लाभ मोदी के चंद उद्योगपति मित्र उठाएंगे। काला कानून में समर्थन मूल्य को समाप्त किया जा रहा है। मंडी व्यवस्था समाप्त की जा रही है। कृषि उत्पाद को आवश्यक वस्तु अधिनियम से बाहर रखा गया है। केंद्र की मोदी सरकार अपने चिरपरिचित वादे के विपरीत उद्देश्य को लेकर काम कर रही है। इस कानून से देश मे किसान शब्द मिट जाएगा । रहेगा तो केवल मजदूर और कामगार ।
 
                   प्रमदो ने बताया कि धरना में विधायक,महापौर,ज़िला पंचायत अध्यक्ष,पूर्व सांसद,पूर्व विधायक ,प्रदेश पदाधिकारी,पार्षद गण ,निर्वाचित जन प्रतिनिधि ,शहर कांग्रेस कमेटी ,चारो ब्लाक कमेटी के पदाधिकार,सेवादल,महिला कांग्रेस,युवा कांग्रेस,एन एस यू आई ,किसान कांग्रेस,झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ,आई टी सेल ,सभी मोर्चा,अनुषांगिक संगठन,प्रकोष्ठ के पदाधिकारी ,कार्यकर्ता शामिल होंगे।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...