केदारनाथ की कृपा से घर लौटे तीर्थयात्री..एजेंट फरार

STATION_1बिलासपुर—-तीर्थयात्रियों को समिति ने बीच रास्ते में ही रामभरोसे छोड़ दिया। परेशान यात्रियों को ठगी का शिकार होकर लौटना पड़ा है। त्रिपुर यात्रा सेवा समिति कोरबा ने यात्रियों से पूरे पैसे लेकर चारो धाम घूमना के वजाय बीच रास्ते में ही छोड़ दिया। परेशान यात्रियों के अनुसार समिति ने प्रत्येक व्यक्ति पन्द्रह हजार जमा करवाया था। परेशान यात्रियो ने बताया कि समिति की शिकायत थाने में करेंगे।

                      चारो धाम यात्रा के नाम  पर तीर्थयात्रियों को त्रिपुर यात्रा समिति ने ठगी का शिकार बनाया है। यात्रियों ने बताया कि त्रिपुर समिति ने चारो धाम की यात्रा के लिए एक व्वक्ति पर 15 हजार रूपए जामा करवाए थे। केदारनाथ, बद्रीनाथ में उन्हें किसी प्रकार की सुविधा नहीं मिली। जिसके चलते सभी को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। तीर्थ यात्रियों के अनुसार समिति के कर्मचारी सभी यात्रियों को केदारनाथ में छोड़कर फरार हो गये।

                      कल्याणी तिवारी ने बताया कि लगभग दो सौ यात्रियो ने चारो धाम की यात्रा के लिए कोरबा की त्रिपुर यात्रा सेवा समिति में चार महीने पहले  रजिस्ट्रेशन करवाया था। उनके परिवार से ही पांच लोग तीर्थ यात्रा पर गए थे । प्रति व्यक्ति 15 हजार रुपये समिति में जमा भी किया था। यात्रा शुरू होते ही एजेन्सी के कर्मचारियों ने पेरशान करना शुरु कर दिया। पानी तक की व्यवस्था यात्रियो ने खुद के खर्च पर किया।

                            सभी यात्री किसी तरह केदारनाथ पहुंचे। ठहरने और खाने पीने लिए समिति ने किसी प्रकार का इंतजाम नहीं किया था।केदारनाथ में समिति के कर्मचारियों ने बिना किसी सुविधा के  सबको घूमने भेज दिया। संस्था ने तो गाइड ही दिया और ना ही आने जाने का प्रबंध ही किया। किसी तरह जब सभी यात्री घूमफिरकर ठिकाने पर आए तो बस गायब थी। किसी तरह लोग अपने खर्चे पर यहां तक पहुंचे। इस दौरान बुजुर्ग और बच्चों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

                       किसी तरह वह सभी बद्रीनाथ पहुचे। दर्शन के बाद बिलासपुर आज बिलासपुर पहुंचे हैं। यात्रा करने वालों में प्रदेश के विभिन्न शहरो के लगभग दो सौ यात्रियो शामिल हैं। सभी ने त्रिपुर समिति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *