केन्द्रीय विश्वविद्यालय के छात्रों की पुलिस कप्तान से शिकायत..कहा ..ABVP नेताओं ने बिगाड़ा माहौल..दे रहे जान से मारने की धमकी

बिलासपुर— केन्द्रीय विश्वविद्यालय के छात्र छात्राओं ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं के खिलाफ शिकायत की है। छात्र छात्राओं ने बताया कि विश्वविद्यालय में चुनाव होने वाला है। विद्यार्थी परिषद के बाहरी छात्र जिनका विश्वविद्यालय से कोई लेना देना नहीं है। परिसर में पहुंचकर माहौल को खराब कर रहे हैं। ब्रदरहुड पैनल के उम्मीदवारों के साथ मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देते हैं। कई छात्र छात्राएं माहौल को देखते हुए विश्वविद्यालय छोड़कर अपने घर जा रहे हैं। ऐसे लोगों में पुलिस प्रशासन लगाम लगाए।  

                        अच्छी खासी संख्या में केन्द्रीय विश्वविद्यालय के छात्र पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। लिखित में शिकायत कर बताया कि विश्वविद्यालय में चुनाव होने वाले हैं। विश्वविद्यालय में पिछले पांच -छः साल से ब्रदरहुड पैनल के प्रत्याशी चुनाव जीतते आ रहे है। लगातार छात्र हित में काम करते हुए प्रबंधन के भ्रष्टाचार को उजागर करते रहे हैं। ब्रदरहुड पैनल की छात्रों के बीच लोकप्रतियता भी है। ऐसे में एबीव्हीपी के बाहरी छात्र लगातार विश्वविद्यालय के माहौल को बिगाड़ने से बाज नहीं आ रहे हैं। 

                  छात्रों ने बताया कि छात्र परिषद चुनाव 24 जनवरी को होने वाला है। उसी दिन चुनाव का परिणाम भी आना है। अधिसूचना जारी होने के बाद बाहरी छात्रों और एबीव्हीपी के नेताओं की विश्वविद्यालय में आमद तेज हो गयी है। बाहरी छात्र विश्वविद्यालय पहुंचकर छात्राओं से छेड़छाड़ करते हैं। विरोध करने पर मारपीट करते हैं। मामले में कई बार बाहरी छात्रों को समझाया बुझाया गया। बावजूद इसके अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

                          ब्रदरहुड के नेता और विश्वविद्यालय के छात्रों ने बताया कि एबीव्हीपी छात्र नेता सन्नी केशरी, विकास गोरख, रौनक किशरी,मोरध्वज पैकरा,बिका सोनकर छात्रों को फार्म भरने पर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। विश्वविद्यालय में ऐसे बहुत से छात्र हैं..जो लोग बाहरी छात्र नेताओं का समर्थन भी कर रहे हैं। अमन कुमार, आशुतोष आनन्द,अविनाश खलको बाहरी छात्र संगठनों के हिमायती है। इन्हीं की शह पर बाहरी छात्र विश्वविद्यालय का माहौल ना केवल बिगाड़ रहे हैं। बल्कि आतंक का पर्याय भी बन रहे हैं। पुलिस प्रशासन से निवेदन है कि चुनाव से पहले विश्वविद्यालय का महौल बिगाड़ने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे। बलात तरीके से विश्वविद्यालय में प्रवेश कर छात्राओं से छेड़छाड़ करने वालों पर सख्त कार्रवाई करें।

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...