मेरा बिलासपुर

VIDEO:केन्द्रीय विश्वविद्यालय कुलपति पर लगाया आरोप..कांग्रेसियों ने कहा-भ्रष्टाचार की गंदगी हटाकर रहेंगे..बर्दास्त नहीं बाबा के सिद्धांतों से खिलवाड़..अब सम्मान की लड़ाई

बिलासपुर— केन्द्रीय विश्वविद्यालय को हमने बहुत संघर्ष से हासिल किया है। हम इसे किसी कुलपति या अन्य का चारागाह नहीं बनने देंगे। यहां भ्रष्टाचार चरम पर है। छात्रों की आवाज को दबाया जा रहा है। रोस्टर की धज्जियां उड़ाई जा रही है। आरक्षण नियमों को ताक पर रखा गया है। चंद लोगों के इशारे पर बाबा गुरूघासीदास के सिद्धान्तों को धूमिल किया जा रहा है। यह बातें प्रेस वार्ता में प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेन्द्र गंगोत्री ने कही। नेताओं ने कहा कि अब सम्मान की लड़ाई होगी।  सफाई  आंदोलन चलाएंगे। जब तक कुलपति को नहीं हटाया जाता है कांग्रेस पार्टी और विश्वविद्यालय के छात्र दिल्ली तक आवाज बुलंद करेंगे। इस दौरान नेताओं ने केन्द्रीय विश्वविद्यालय कुलपति पर करोड़ों रूपए की भ्रष्टाचार और नियुक्तियों में घालमेल का आरोप लगाया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

                   अटल श्रीवास्तव ने कहा कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय की कुलपति अंजिला गुप्ता ने बाबा गूरूघासी दास के नाम को कलंकित किया है। नियुक्तियों से लेकर निर्माण कार्य में जमकर भ्रष्टाचार की है। रोस्टर के नियमों को  दरकिनार कर अपनों को पंजीरा बांट रही हैं। योग्यता पर अयोग्य लोगों को प्राथमिकता देते हुए शैक्षणिक गतिविधियों को कमजोर की है। इतना ही नहीं उन्होने विश्वविद्यालय को आरएसएस का शेल्टर बना दिया है। अब इसे बर्दास्त नही किया जाएगा। अटल ने बताया कि एक कुलपति लक्ष्मण चतुर्वेदी हुआ करते थे। उन्होने अपना सम्पर्क नम्बर जाहिर कर हमेशा उपलब्ध रहे। लेकिन वर्तमान कुलपति सात तालों के भीतर रहती है। छात्र और उनकी परेशानियां तो दूर यदि किसी प्राध्यापक को मिलना हो तो दो दिनों तक इंतजार करना पड़ता है। विश्वविद्यालय में भ्रष्टाचार का खेल उनके इशारे पर हो रहा है।  

                     अटल ने बताया कि भ्रष्टाचार की हद हो गयी है। छत्तीसगढ़ियों से उनकी नफरत जग जाहिर है। हमने कभी केन्द्रीय विश्वविद्यालय हासिल करने के लिए आंदोलन किया था। अब विश्वविद्यालय के कचरों को साफ करने के लिए आंदोलन किया जाएगा। छात्रों के साथ मिलकर केन्द्रीय विश्वविद्यालय स्थित प्रशासनिक भवन के सामने महाधरना आंदोलन तब तक किया जाएगा जब कुलपति अंजीला गुप्ता को हटाया नहीं जाता है।

Hariyali Teej 2022: इस शुभ योग में करें माता पार्वती और महादेव की पूजा, घर आएगी सुख समृद्धि

  निर्माण और नियुक्तियों में महा भ्रष्टाचार…विजय

              जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि हमारे पास पुख्ता सबूत है कि निर्माण कार्य और नियुक्तियों में महाभ्रष्टाचार हुआ है। इतिहास,वाणिज्य विभाग में ऐसे लोगों को नियुक्त किया गया है जिनके पास एसोसिएट प्रोफेसर की योग्यता भी नहीं है। चहेते को अशासकीय महाविद्यालय से लाकर प्रोफेसर बना दिया गया है। नियुक्तियों में भारी मात्रा में लेन देन हुई है। हमारे इस बात के पुख्ता प्रमाण भई हैं। वर्तमान कुलपति ने अर्थशास्त्र विभाग में रातों रात ऐसे व्यक्ति को सहायक प्राध्यापक बना दी है। जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता है। जबकि इससे कई गुना योग्य लोगों को दरकिनार किया है।

                विज्ञान संकाय में आयोग्य लोगों को प्राध्यापक बनाया गया है। नियुक्त किए गए लोग यूजीसी के मापदण्ड के एक भी बिन्दुओं को पूरा नहीं करते है। इतना ही नहीं कुलपति ने आक्सफोर्ट विश्वविद्यालय के पीएचडी धारक को सिर्फ इसलिए नियुक्ति देने से मना किया..ताकि उनका चहेता प्राध्यापक बन जाए। जानकारी के अनुसार इसके लिए उन्होने लाखों रूपए भी लिए है।

                           विजय ने बताया कि कुलपति ने निर्माण कार्य के लिए पहले 75 करोड का टेंडर निकाला। 15 करोड़ का काम करवा कर बन्द कर दिया। फिर उसी काम के लिए 100 करोड़ का टेण्डर निकाला, 50 करोड़ का काम करवा कर बन्द कर दिया। फिर 150 टेन्डर निकाला । इस तरह उन्होने एक काम के लिए कई बार करोडों का टेण्डर निकाला। और सारे रूपए पचा लिए गए।

रोस्टर बदलने का आरोप

           विजय केशरवानी और अटल श्रीवास्तव ने बताया कि चहेतों को नियुक्त करने विश्वविद्यालय का रोस्टर तीन बार बदला गया। जबकि रोस्टर नहीं बदला जाता है। वर्तमान कुलपति का कार्यकाल खत्म होने वाला है। लेकिन एक बार फिर कुलपति बनने युद्धस्तर पर प्रयास कर रही है। 200 बिन्दु वाला रोस्टर में बदलाव कर खुद को अंगद की पांव की तरह स्थापित करना चाहती है। वर्तमान कुलपति सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का पालन नहीं करते हुए मनमर्जी से विभाग का बंदरबांट कर रही है। 

चंपारण में पकड़ाया बलात्कार का आरोपी...आपत्तीजनक फोटो दिखाकर किया ब्लैकमेलिंग..पहुंच गया केन्द्रीय जेल

फर्नीचर और कम्प्यूटर घोटाला का आरोप

                विजय ने बताया कि विश्वविद्यालय में फर्नीचर और कम्प्यूटर खरीद घोटाला हुआ है। मनचाहे व्यक्तियों से मनमाफिक दर पर खरीदी की गयी है। कई जगह तो खरीदी कागजों पर ही है।भ्रष्टाचार को छिपाने अभी तक कुलसचिव और वित्त अधिकारी की नियुक्ति नहीं की गयी है। विज्ञान संकाय में चहेते छात्रों का अंक बढ़ाकर डिविजन बनाया गया। फिर सहायक प्राध्यापक के पद पर नियुक्त कर दिया गया। मामला उच्च न्यायालय में चल रहा है।

 दिल्ली में भी करेंगे आंदोलन

  युवा कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष महैेन्द्र गंगोत्री ने बताया कि अब विश्वविद्यालय की गंदगी को साफ करने का समय आ गया है। जब तक वर्तमान कुलपति को नहीं हटाया जाता है तब तक महाआंदोलन चलेगा। दिल्ली संगठन में भी बातचीत हो चुकी है। वहां भी पार्टी विंग के कार्यकर्ता कुलपति को हटाने की मांग करेंगे। महेन्द्र ने बताया कि 28 जनवरी को कांग्रेस पार्टी और सहयोगी संस्थाएं विश्वविद्यालय पहुंचकर उग्र आंदोलन करेंगी।  

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS