कैसे कामयाब होगा गर्जना महाअभियान……? शुरूआत अच्छी……. लेकिन रखरखाव में बेपरवाही…

मुंगेली  ( आकाश दत्त मिश्रा ) । महिलाओ की आत्मरक्षा के लिए प्रदेश में गर्जना महाअभियान की शुरुआत की गई  ।जिसके तहत लगभग 1 सप्ताह सुबह मुंगेली नगर एवं आसपास के ग्रामीण अंचलों से बच्चो को आत्मरक्षा के गुर सिखाए गये ।  साथ ही गठित  की गई महिला कमांडोज़ की टीम को और बेहतर तरीके से तैयार करने की ट्रेनिग दी गयी ।

गर्जना महाअभियान की ज़िम्मेदारी रक्षा टीम के कंधों पर थी ।  जिसे रक्षा टीम ने पूरा तो किया ।  लेकिन कार्यक्रम सम्पन्न होने के बाद सबकुछ औपचारिकता पूरी करने जैसा लगने लगा। उदाहरण के तौर पर गर्जना महाभियान में छोटे बच्चो को और युवतियों को फाइटिंग ट्रेनिंग देने के लिए उपयोग में लाये जाने वाली मैट लगभग कार्यक्रम सम्पन्न होने के बाद से खुले आसमान के नीचे पड़ी है  । रोजाना रक्षा टीम थाना परिसर में देखी जाती है।  लेकिन इनमें से किसी की भी नज़र इस कीमती मैट पर नही जाती है ।  इस मैट की कीमत हजारो में होगी इस बात से इनकार नही किया जा सकता । लेकिन जिस तरह का रखरखाव देखा जा रहा उसे देखते हुए यह स्पष्ट हो गया कि विभाग के द्वारा खरीदे गए संसाधनों का किस तरह उपयोग किया जा रहा है।

रक्षा टीम की गाड़ी का हो रहा दुरुपयोग,,,,,,,,,

महिला संबंधी अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए गठित की गई रक्षा टीम को दिए गए वाहन का अनौपचारिक उपयोग किया जा रहा है ।  सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक वाहन को मुंगेली सीमा से बाहर सैर सपाटे के लिए रक्षा टीम के सदस्य ले जाते रहते है ।  इसके अलावा निजी मामलो पर भी गाड़ी का व्यक्तिगत रूप से उपयोग किया जाता है। रक्षा टीम के गठन की शुरुआत बेहतर रही  । लेकिन वर्तमान समय मे रक्षा टीम की कार्यप्रणाली शिथिल पड़ती नज़र आ रही है। संसाधनों के दुरुपयोग पर अंकुश लगाने अधिकारी कोई ठोस कदम उठाएंगे ऐसी उम्मीद की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *